Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

डिस्पोजल बर्तन बना देंगे आपको कैंसर का मरीज, अमेरिकी रिसचर्स की टीम का खुलासा

थर्मोकोल के बर्तन में पाए जाने वाले ऐसे रसायन का पता चला है जो कैंसर की आशंका बढ़ा सकता है।

डिस्पोजल बर्तन बना देंगे आपको कैंसर का मरीज, अमेरिकी रिसचर्स की टीम का खुलासा

नई दिल्ली. दफ्तर में कॉफी हो या फिर रेस्तरां का भोजन, थर्मोकोल से बने डिस्पोजेबल बर्तनों का इस्तेमाल काफी चलन में है लेकिन क्या आपको पता है कि यह आपकी सेहत के लिए कितने बड़े खतरे का कारण हो सकता है? हाल ही में हुए एक शोध में थर्मोकोल के बर्तन में पाए जाने वाले एक ऐसे रसायन का पता चला है जो कैंसर की आशंका को बढ़ा सकता है। अमेरिका के नेशनल रिसर्च काउंसिल के शोधकर्ताओं ने अपने अध्ययन के आधार पर यह दावा किया है कि थर्मोकोल से बनने वाले कप, प्लेट आदि बर्तनों के संपर्क से कैंसर की आशंका अधिक हो जाती है। इनमें मौजूद तत्व- स्टेरीन कार्सिनोजेनिक तत्व है जो कैंसर की आशंका को काफी हद तक बढ़ा देते है।

टॉक्सिकोलॉजी, केमिस्ट्री और मेडिसिन के 10 विशेषज्ञों की टीम ने अपने अध्ययन के आधार पर यह दावा किया है। वहीं अमेरिका के फूड एंड ड्रग एसोसिएशन की विशेषज्ञ डॉ. जेन हेनी ने बताया है कि इस शोध में कई ऐसे तथ्य मिले हैं जिनके आधार पर हम स्टेरीन से कैंसर का रिस्क मान सकते हैं लेकिन इसकी मात्रा और इससे जुड़े सभी पहलुओं पर अध्ययन के आधार पर ही किसी निष्कर्ष पर पहुंचा जा सकता है। यह शोध फूड एडिटिव्स एंड कन्टेनमेंट्स र्जनल में प्रकाशित हो चुकी है।
सिर्फ डिस्पोजल ही नहीं पॉलीथिन में खाने या पीने की चीजें रखने से भी उनमें हानिकारक तत्व मिल जाते हैं। कुछ दिनों पहले ही भारत में सरकार ने गुटखे या माउथ फ्रेशनर्स को प्लास्टिक बैग्स में रखना बैन किया है। लेकिन इसके बावजूद अब भी खाने-पीने की चीजों को रखने के लिए पॉलीथिन का इस्तेमाल धड़ल्ले से हो रहा है।
नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, 35 इंच से मोटी कमर देती है डायबिटीज को न्योता-
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर-
feedback- lifestyle@haribhoomi.com
Next Story
Top