Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

डायबिटीज मरीजों की अब टीबी की भी होगी जांच

अध्यन के बाद केंद्रीय टीबी डिवीजन ने अपनी नई गाइडलाइन्स तैयार की हैं।

डायबिटीज मरीजों की अब टीबी की भी होगी जांच
चेन्नई. अब डायबिटीज मरीज को टीबी बीमारी का भी चेकअप कराना होगा। अगर मरीज का शुगर टेस्ट सकारात्मक आता है तो सरकारी सुविधाओं पर टीबी के टेस्ट के लिए भी सेंपल भेजा जाएगा। कि पेशेंट्स को टीबी तो नहीं।
अध्यन के बाद केंद्रीय टीबी डिवीजन ने अपनी नई गाइडलाइन में बताया है कि डायबिटीज पेशेंट्स को 2 से 3 गुना टीबी बीमारी का खतरा बना रहता है। संशोधित राष्ट्रीय क्षय रोग नियंत्रण कार्यक्रम के अनुसार, टीबी के मरीज होने पर शुगर टेस्ट की प्रक्रिया से भी गुजरना होगा। इन नए दिशानिर्देश से स्वास्थ्य अधिकारियों का कहना है इससे अधिक टीबी मामलों का पता चल सकेगा।
टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक, स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय में उप महानिदेशक डॉ. सुनील डी खापर्ड़े ने कहा कि हमारा अनुमान है कि इस जीवाणु संक्रामण से करीब 22 लाख लोग ग्रस्त है, लेकिन हम केवल 14 लाख लोगों तक पहुंचने में सक्षम है। हमें नहीं पता जो लोग लापता है उनका सहीं निदान हो रहा है या नहीं। एक पायलट प्रोजेक्ट के रूप में नया ढांचा भारत के 100 जिलों में शुरू किया था।
डॉ. सुनील केंद्रीय टीबी डिवीजन के भी प्रमुख हैं। उन्होंने कहा, आरएनटीसीपी सेटअप की नई गाइडलाइन्स का सरकारी सुविधाओं द्वारा पालन किया जाएगा। हाल ही में डॉ. विजय विश्वनाथन द्वारा किए गए अध्यन में पता चला है कि 209 पेशेंट्स में 54.1% को टीबी के साथ शुगर भी था। जबकि 21% को पहले से शुगर था।
डाटा के अनुसार, हर चौथा इंसान टीबी से ग्रस्त है। जिनका इम्यून सिस्टम कमजोर पाया गया है। टीबी डायबिटीज को प्रभावित करता है। ये केवल ब्लड कंट्रोल को ही नहीं बल्कि डायबिटीज के लेवल को भी बिगाड़ता है। डॉ. विजय विश्वनाथन एम. वी. हॉस्पिटल और मैसाचुसेट्स मेडिकल स्कूल के विश्वविद्यालय में प्रमुख डायबीटोलॉजिस्ट हैं। डॉ. खापर्डे ने कहा तेजी से कार्य और नई गाइडलाइन्स को लागू करने की जरूरत है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Share it
Top