Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

आ गया डार्क चॉकलेट कैप्सूल, कई बीमारियां होंगी दूर

चॉकलेट के गुणों को देखकर दवा नियामक ने मंजूरी दे दी है।

आ गया डार्क चॉकलेट कैप्सूल, कई बीमारियां होंगी दूर
नई दिल्ली. ज्यादा चॉकलेट खाने से घर पर रोक-टोक की जाती है लेकिन अब ऐसा नहीं होगा क्योंकि डार्क चॉकलेट की सैप्सूल बनकर तैयार होने वाली है। हृदयघात और डिमेंशिया इलाज में चॉकलेट के कारगर होने को दवा नियामक ने मंजूरी दे दी है। सब कुछ योजनाबद्ध से बने यह कैप्सूल अगले साल तक मार्केट में भी उबलब्ध होने लगेगा।
शोधकर्ताओं का कहना है कि कोको में मौजूद फ्लेबेलॉन नाइट्रिक ऑक्साइड के स्नच में मददगार होता है, जो शरीर में खून का बहाव बढ़ाता है। ईयू नियामक ने इसके पोषक तत्वों के कारण इसे औषधीय भोजन कहा है।
इसके अच्छे परिणाम के लिए एक व्यक्ति को कम से कम चार सौ ग्राम डार्क चॉकलेट डोज लेने की सलाह दी गई है। विशेषज्ञों ने फ्लेवेनॉल के शुद्धतम रूप को बरकरार रखते हुए फ्लो दवाएं बनाई हैं। केंब्रिज न्यूट्रास्टिकल्स के डॉक्टर कहते हैं कि धमिनयों में लचीलापन बनाएं रखना बेहद जरूरी है। ढलती उम्र में रक्तचाप पर हल्का से दबाव भी हार्ट अटैक, स्ट्रोक,डिमेंशिया के खतरे को बढ़ा देता है।
डार्क चॉकलेट के कई गुण
प्रोटीन- 7.79
आयरन-11.9 मिलीग्राम
मैर्नीशियम-228 मिलीग्राम
वसा-42.63 ग्राम
जिंक-3.31 मिलीग्राम
पोटैशियम-715मिलीग्राम
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top