Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कहीं फिसल ना जाए जुबान, जो भी बोलें सोच-समझकर

जुबान हमारे व्यक्तित्व और सोच का आईना होती है।

कहीं फिसल ना जाए जुबान, जो भी बोलें सोच-समझकर
X
नई दिल्ली. जुबान हमारे व्यक्तित्व और सोच का आईना होती है। घर में परिवार के साथ या बाहर अंजान लोगों के साथ, हर जगह जुबान अगर बहुत से काम को बनाती है तो वो कई काम बिगाड़ भी देती है। इसलिए जरूरी है कि अपनी जुबान पर पूरा नियंत्रण रखें और उसे फिसलने न दें। आप क्या इस बात को मानती हैं कि जुबान हमारे शरीर का ऐसा हिस्सा है, जो कई समस्याओं की जड़ बन जाती है? वैसे तो जुबान न रहे तो हम अपनी भावनाओं, जज्बात को बयां नहीं कर सकते हैं, लेकिन कई बार ये हमें मुश्किलों में भी डाल देती है।
सब कुछ निर्भर करता है कि आप इसका कैसे उपयोग करती हैं। एक कहावत जुबान के बारे में कही जाती है -जुबान के पास हड्डी नहीं होती है, लेकिन ये रिश्तों की कमर तोड़ने में माहिर है। शायद यही वजह है कि ऊपर वाले ने जब जुबान बनाई तो उसे मुंह के जेल में कैद कर दिया। जेल क्या ये एक अंधेरी गुफा है, जहां से वो एक दायरे से बाहर नहीं निकल सकती है। बावजूद इसके जुबान है कि ये अकसर फिसलती है, लंबी हो जाती है, लड़खड़ाती है, चटोरी बन जाती है। कहीं जुब़ान लड़ती भी है तो जुबान लड़ाती भी है। इसलिए कइयों को जुबान पर लगाम भी लगानी पड़ती है।
कठोर जुबान
इसकी शुरुआत परेशानियों और चिंताओं से होती है। जुबान अगर कठोर हो जाए तो अच्छे खासे दोस्त भी दुश्मन बन जाते हैं। अपने भी गैर हो जाते हैं। क्योंकि कठोर बोलने वाले लोगों से हर कोई अपनी बात कहने से कतराता है। कठोर बोली इंसान को भीड़ में भी अकेला कर देती है। अगर आप भी लोगों से सख्त जुबान में बात करते हैं, किसी भी बात पर जल्द ही नाराज हो जाती हैं तो आपको अपने व्यवहार में बदलाव लाने की जरूरत है।
समाधान
अपने गुस्से पर काबू रखें और सभी से आदर और प्यार के साथ पेश आएं।
झूठी जुबान
महात्मा गांधी ने कहा था कि सत्य ही ईश्वर है। संस्कृत में भी वचन है सत्यमेव जयते। लेकिन जुबान की आदत होती है कि गलती पकड़े जाने पर झूठ बोलकर बच लो। लेकिन घर हो या ऑफिस, झूठ की सवारी बहुत देर और बहुत दूर तक आपको नहीं ले जा सकती है। झूठ बोलकर अपनी गलतियों को छिपाने से अच्छा होता है कि आप सच कहें। झूठ भले ही आपको कुछ पल की राहत दे सकता है, लेकिन आपकी पोल कभी न कभी तो खुल ही जाएगी।
समाधान
सच का सामना करें और घर हो या दफ्तर, हर कहीं अपनी विश्वसनीयता बनाए रखें।

नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, पूरी खबर-

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story