Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कॉफी पीने के शौकीन लोगों के लिए अच्छी खबर, बुढ़ापे में नहीं होगी ये बीमारी

अगर आप कॉफी (Coffee) पीने के शौकीन हैं तो आपके लिए एक अच्छी खबर है। हाल ही में एक रिसर्च से यह बात सामने आई है कि कॉफी का सेवन करने से अल्जाइमर बीमारी (Alzheimer's Disease) देरी से डेवलप होती है।

कॉफी पीने के शौकीन लोगों के लिए अच्छी खबर, बुढ़ापे में नहीं होगी ये बीमारी
X

अगर आप कॉफी (Coffee) पीने के शौकीन हैं तो आपके लिए एक अच्छी खबर है। हाल ही में एक रिसर्च से यह बात सामने आई है कि कॉफी का सेवन करने से अल्जाइमर बीमारी (Alzheimer's Disease) देरी से डेवलप होती है। यह रिसर्च 'फ्रंटियर्स इन एजिंग न्यूरोसाइंस जर्नल' में प्रकाशित हुई है।

ऑस्ट्रेलिया की एडिथ कोवान यूनिवर्सिटी (ईसीयू) के शोधकर्ताओं ने यह रिसर्च की है। इसमें यह जांच की गई कि क्या कॉफी का एक दशक से अधिक समय तक सेवन करने वाले 200 ऑस्ट्रेलियन लोगों की संज्ञानात्मक गिरावट की दर को कितना प्रभावित किया?

रिसर्च टीम के लीड इंवेस्टिगेटर डॉ. सामंथा गार्डनर ने अध्ययन की शुरुआत में पाया कि जिन प्रतिभागियों में कोई मेमोरी लॉस नहीं था और अध्ययन की शुरुआत में अधिक कॉफी की खपत करते थे, उन्हें संज्ञानात्मक हानि का जोखिम कम था, जैसा अकसर अल्जाइमर रोग के दौरान या अल्जाइमर रोग विकसित होने से पहले होता है। अधिक कॉफी पीने से संज्ञानात्मक कार्य के कुछ क्षेत्रों के संबंध में सकारात्मक परिणाम मिले। जिसमें योजना बनाना, आत्मनियंत्रण और एकाग्रता शामिल हैं।

स्टडी में यह भी पता चला कि अधिक कॉफी का सेवन मस्तिष्क में अमाइलॉइड प्रोटीन के संचय को धीमा करने से जुड़ा हुआ प्रतीत होता है, जो अल्जाइमर रोग के विकास का एक प्रमुख कारक है।

कितनी कॉफी पीनी चाहिए

यह रिसर्च उन लोगों के लिए विशेष रूप से उपयोगी हो सकता है, जो संज्ञानात्मक गिरावट के रिस्क में हैं, लेकिन अभी अल्जाइमर्स का कोई लक्षण विकसित नहीं हुआ है। रिसर्च में देखा गया कि अगर घर पर बनाई जाने वाली कॉफी का औसत कप 240 ग्राम है, तो इसे दिन में दो कप तक बढ़ाने से 18 महीनों के बाद संज्ञानात्मक गिरावट संभावित रूप से आठ प्रतिशत कम हो सकती है। इसी समय अवधि में मस्तिष्क में अमाइलॉइड संचय में पांच प्रतिशत की कमी भी देख सकते हैं।

डॉ. गार्डनर का कहना है कि इस दिशा में आगे और रिसर्च की जरूरत है, लेकिन यह अध्ययन उत्साहजनक रहा, जिससे यह इशारा मिलता है कि अल्जाइमर रोग की शुरुआत को धीमा करने के लिए कॉफी पीना एक आसान तरीका है।

क्या है अल्जाइमर

बता दें कि अल्जाइमर, वृद्धावस्था में होने वाला रोग है। इस बीमारी के लक्षणों में याददाश्त की कमी होना, निर्णय ना ले पाना, बोलने में दिक्कत होना आदि शामिल हैं।


Next Story