Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

कोल्ड ड्रिंक्स शौकिनों के लिए खुशखबरी, जल्‍द ले सकेंगे शुगर-कैलोरी फ्री कोक का मजा

कोका कोला जीरो दस वर्ष पहले वैश्विक स्तर पर पेश किया गया था और अब तक यह दुनिया के 148 देशों में उपलब्ध है।

कोल्ड ड्रिंक्स शौकिनों के लिए खुशखबरी, जल्‍द ले सकेंगे शुगर-कैलोरी फ्री कोक का मजा
न्‍यूयॉर्क. कोल्‍ड ड्रिंक बानने वाल कंपनियां पेप्सिको और स्‍नेपल ग्रुप ने लोगों में बढ़ रहे मोटापा, मधुमेह और हार्ट अटैक जैसी बीमारी की रोकथाम के लिए अपने उत्‍पाद में 20 प्रतिशत तक कैलोरी कम करने का वाद किया है। ग्रुप ने कहा कि वे उनका प्रयास है कि 2025 त‍क वे अपने पेय उत्‍पाद में 20 प्रतिशत कैलो‍री कम सरने में सफल हो सकते हैं। कंपपनी अपने उत्‍पाद में बदलाव की शुरूआत लॉस एंजिल्‍स, कैलिफोर्निया, लिटिल रॉक जैसे शहरों में किया जाएगा। कंपनी ने यह वादा अमेरिकी पेय एसोसिसशन की 10 वीं वार्षिक क्लिंटन ग्‍लोबल इंनिशिएटिव में न्‍यूयॉर्क में किया था।
देश में मोटापा, मधुमेह और हार्ट अटैक की बढ़ती समस्‍या पर न्‍यूयॉर्क में दिए अपने बयान में पूर्व राष्‍ट्रपति बिल क्लिंटन ने कहा कि लोग सोडा इसि‍लए पीते हैं कि यह आसानी से उपलब्‍ध हो जाता है जबकि लोगों के पास पेय पदाथों में पा नी और आइस टी भी ले सकते हैं। उन्‍होंने कहा था कि कम उम्र के बच्‍चों में कैलोरी की अधितम मांग सोडा से ही पूरी हो जाती है जो कि भविष्‍य में खतरनाक हो सकती है। उन्‍होंने कहा कि अमेरिका में औसतन 6 प्रतिशत नागरिक अपनी कौलोरी के लिए मीठा सोडा पर निर्भर हैं। सैनफोर्ड स्‍कूल के डीन केली ब्राउनेल ने कहा कि र्साजनिक नीति के तहत उपभोक्‍ताओं को स्‍वास्‍थ्‍य के प्रति जागरूक किया जा रहा है।
नीचे की स्लाइड्स में जानिए, इंडिया में शुगर फ्री कोका कोला जीरो लांच -
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर-
Next Story
Share it
Top