Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

हाथ न धोने की वजह से मर रहे हर साल 14 लाख बच्चे

इन बच्चों की मौत असल में हाथ न धोने से होने वाली निमोनिया और डायरिया जैसी बीमारियों से होती है।

हाथ न धोने की वजह से मर रहे हर साल 14 लाख बच्चे
नई दिल्ली. सिर्फ हाथ न धोने की आदत का पालन न करने की वजह से दुनिया भर में हर दिन 800 से ज्यादा बच्चे मौत के मुंह में चले जाते हैं। इन बच्चों की मौत असल में हाथ न धोने से होने वाली निमोनिया और डायरिया जैसी बीमारियों से होती है।
युनिसेफ की ओर से जारी की गई रिपोर्ट के मुताबिक, सुरक्षित पेयजल और स्वच्छता की कमी के कारण हर साल दुनिया भर में तीन लाख बच्चों की डायरिया से मौत हो जाती है। इन मौतों को सही तरीके से हाथ धोकर रोका जा सकता है।
यूनिसेफ के जल एवं स्वच्छता के वैश्विक प्रमुख ने कहा, हर साल निमोनिया और डायरिया जौसी बीमारियों से 14 लाख बच्चों की मौत हो रही है। बत्तों और उनके परिवारों को हाथ धोने के फायदे के प्रति जागरूक कर के मौतों को काफी कम किया जा सकता है। शौचालय के इस्तेमाल के बाद और खाना खाने से पहले साबुन से हाथ धोने से डायरिया के मामलों में 40 फीसदी तक की कमी आती है। सही तरीके से हाथ धोने से बच्चे में संक्रमण से बचने के कारण स्कूल में भी ज्यादा समय दे पाते हैं।
आंकड़ों के मुताबिक एक ग्राम मल में सौ अरब बैक्टीरिया होते हैं औऱ वैश्विक स्तर पर पांच में से सिर्फ एक आदमी ही शौचालय के इस्तेमाल के बाद हाथ धोता है। ऐसे में शौच के बाद सही तरीके से हाथ धोने वाले बच्चों में डायरिया का खतरा 40 फीसदी तक कम हो जाता है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Share it
Top