logo
Breaking

अब 50 रुपए में जानिए कितना शुद्ध है दूध

इस डिवाइस के जरिए आप दूध की शुद्धता की जांच कर सकते हैं।

अब 50 रुपए में जानिए कितना शुद्ध है दूध

राइट टू रिसर्च फाउंडेशन के रीसर्चरों ने दो साल पहले एक ऐसी डिवाइस तैयार की है, जिससे आप दूध की शुद्धता को सिर्फ 2 मिनट में जांच सकते हैं।

इस डिवाइस के जरिए दूध में मौजूद यूरिया, ग्लूकोज, हाइड्रोजन पेरॉक्साइड और सॉल्ट की मात्रा की जांच की जा सकती है। इसके लिए पेपर की स्ट्रिप पर दूध का एक ड्रॉप डाला जाता है और अगर दूध में मिलावट है तो स्ट्रिप का रंग बदल जाता है।

आपको बता दें कि रीसर्चरों की एक टीम 30 मई को ड्रग्स और सिविल सप्लाइज मंत्री गिरीश बापत से मिलकर इस डिवाइस का डेमो दिया है।

इस डिवाइस को तैयार करने वाले रीसर्च टीम के सदस्य जयंत खांडरे ने बताया कि हमारा उद्देश्य एक ऐसी डिवाइस तैयार करना था, जो सस्ती हो। बता दें कि दूध की शुद्धता नापने के लिए बाजार में मौजूद डिवाइस की कीमत 500 रुपये है, लेकिन उन्नत किस्म की यह डिवाइस 50 रुपये की है।

कैसे करता है यह काम

आपको बता दें कि दूध में यूरिया की जांच करने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली स्ट्रिप का रंग पीला है। ऐसे में अगर आप दूध में मिलावट करते हैं तो स्ट्रिप का रंग लाल हो जाएगा।

वहीं दूध में सॉल्ट की मात्रा अधिक रहने से भूरे रंग की स्ट्रिप पीले रंग में बदल जाएगी। ग्लोकोज के लिए रंगहीन स्ट्रिप का इस्तेमाल किया जाता है, इसकी मात्रा अधिक होने पर स्ट्रिप का रंग भूरे में बदल जाएगा और हाइड्रोजन पेरॉक्साइड के केस में हल्के परपल रंग की स्ट्रिप गहरे नीले में बदल जाएगी।

Share it
Top