logo
Breaking

एड्स के ये हैं लक्षण, बचाव ही इलाज है इसका

यह एक गंभीर और जानलेवा रोग है।

एड्स के ये हैं लक्षण, बचाव ही इलाज है इसका

आजकल का लोगों का लाइफस्टाइल ऐसा हो गया है कि बीमारीघेर ही लेती है। और एड्स जैसी बीमारी का नाम सुनकर ही दहशत हो जाती है।

यह एक गंभीर और जानलेवा रोग है। लेकिन वर्षों की रिसर्च के बाद अब एचआईवी-एड्स का काफी हद तक इलाज संभव हो गया है।

क्या आपको पता है कि एड्स रोग एचआईवी के इन्फेक्शन से होता है।

एचआईवी पॉजिटिव होने के बाद 8-10 साल में रोगी की प्रतिकार शक्ति बहुत कम हो जाती है, जिसे एड्स कहते हैं।

इसे भी पढ़ें- ब्रेस्ट कैंसर से बचने के लिए अपनाएं ये उपाय

एड्स के लक्षण

  • बार-बार बुखार आना
  • याददाश्त कम होना
  • शरीर में दर्द होना
  • मुंह, पलको के निचे या नाक में लाल, भूरे, बैंगनी या गुलाबी रंग के धब्बे होना
  • अधिक समय तक सुखी खांसी आना
  • वजन कम होना
  • रात को पसीना आना
  • शरीर में दर्द होना

ऐसा करने से एड्स नहीं होता

  • एड्स मरीज से हाथ मिलाने से।
  • एड्स ग्रस्त व्यक्ति के साथ उठने-बैठने से।
  • एड्स के मरीज को गले लगाने से।
  • मच्छर व मक्खियों के द्वारा काट लिए जाने से।

इसे भी पढ़ें- खुलासा! इस जीन से खराब होता है इंसान का मूड

ऐसे करें बचाव

  1. अगर अस्पताल में खून चढ़वाने की जरूरत होती है तो एक बार जरूर पता लगा लें, कि किसी एड्स रोगी का तो नहीं।
  2. शारीरिक संबंध बनाते समय हमेशा कंडोम का प्रयोग करें।
  3. हर किसी से शारीरिक संबंध बनाने से बचना चाहिए।
  4. डॉक्टर के पास कभी जाएं तो नई सुई का इस्तेमाल कर रहे है या नहीं, चेक कर लें।
  5. हर प्रेग्नेंट महिला को अपना एचआईवी टेस्ट जरूर कराना चाहिए।
Share it
Top