logo
Breaking

सावधान! अंधेरे में स्मार्टफोन का ज्यादा इस्तेमाल बना सकता है आपको अंधा

अमेरिका की टोलेडो यूनिवर्सिटी ने स्मार्टफोन से निकलने वाली नीली लाईट पर एक शोध किया

सावधान! अंधेरे में स्मार्टफोन का ज्यादा इस्तेमाल बना सकता है आपको अंधा

अगर आप भी देर रात तक लेटकर अपने स्मार्टफोन का इस्तेमाल करते हैं तो जल्द ही अपनी इस आदत को बदल लीजिए, नहीं तो आपको अपनी आंखों की रोशनी भी गंवानी पड़ सकती है। ऐसा हम नहीं कह रहे हैं बल्कि अमेरिका की टोलेडो यूनिवर्सिटी ने एक शोध में ये दावा किया है।

अमेरिका की टोलेडो यूनिवर्सिटी ने स्मार्टफोन से निकलने वाली नीली लाईट पर एक शोध किया। जिसमें पाया गया स्मार्टफोन की नीली लाईट्स से लगातार निकलने वाले छोटे-छोटे मॉल्यूक्यूल्स आंखों के रेटिना के सेल्स को धीरे-धीरे नुकसान पहुंचाते हैं। यही नहीं,इसका लंबे समय तक इस्तेमाल करने पर किसी भी व्यक्ति को अंधता(ब्लाइंडनेस)हो सकती है।

यह भी पढ़ें : जुकाम को दूर करने के लिए अपनाएं ये घरेलू नुस्खे, तुरंत मिलेगा आराम

अमेरिका में तेजी से अंधता(ब्लाइंडनेस)के केसों में इजाफा हुआ है। जिसकी मुख्य वजह स्मार्टफोन से निकलने वाली नीली,सफेद लाईट से आंखों के रेटिना में मौजूद फोटोरिसेप्टर सेल्स का मरना पाया गया। दरअसल इन्हीं फोटोरिसेप्टर सेल्स के जरिए ही रेटिना पर पिक्चर बनती है जिससे हम देख पाते है।

यह भी पढ़ें : इस एक फल के ये हैं पांच चमत्कारी फायदे, हार्ट अटैक सहित कैंसर होगा छूमंतर

टोलेडो यूनिवर्सिटी में सहायक प्रोफेसर के पद पर कार्यरत अजीत करुणरथने ने इस शोध के बारे में बताया कि हमें ये तो पता है कि स्मार्टफोन की निकलने वाली नीली लाईट आंखों के रेटिना को नुकसान पहुंचाती है। लेकिन इस बार हमने शोध में जाना कि किस थेरेपी और आई ड्रॉप के जरिए आंखों के रेटिना को नीली लाईट से होने वाले नुकसान को कम या खत्म किया जा सकता है।

Share it
Top