Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Relationship Tips : कभी नहीं टूटेगा कोई भी रिश्ता बस इन बातों का रखना होगा ख्याल

हमारी लाइफ (Life) का सफर तभी खूबसूरत होता है, जब हमें अपनों का साथ और प्यार मिलता है। ये बात सच है कि रिश्तों के बिना हम अधूरे हैं। इसके लिए रिश्तों की डोर का मजबूत होना बहुत जरूरी है। लेकिन यह तभी मुमकिन है, जब हम अपने रिश्ते में कुछ अहम बातों को जगह दें। आइए जानते हैं ऐसी कुछ छोटी-छोटी बातों के बारे में जिनसे आप अपने रिश्तों में मिठास घोल सकते हैं।

Best Tips for Maintain Healthy and Strong relationships
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

Relationship Tips : हमारी लाइफ (Life) का सफर तभी खूबसूरत होता है, जब हमें अपनों का साथ और प्यार मिलता है। ये बात सच है कि रिश्तों के बिना हम अधूरे हैं। इसके लिए रिश्तों की डोर का मजबूत होना बहुत जरूरी है। लेकिन यह तभी मुमकिन है, जब हम अपने रिश्ते में कुछ अहम बातों को जगह दें। आइए जानते हैं ऐसी कुछ छोटी-छोटी बातों के बारे में जिनसे आप अपने रिश्तों में मिठास घोल सकते हैं।

1- रिश्ते में हो प्यार और अपनापन

कोई भी रिश्ता प्यार और अपनेपन के बिना नहीं टिकता है। जब आप किसी को प्रेम, स्नेह देते हैं तो वैसी ही प्रतिक्रिया आपको मिलती है। यानी प्रेम के बदले प्रेम पाती हैं। प्रेम के बारे में ओशो का कथन है-'अगर आप प्यार के साथ रहते हैं तो आप एक महान जिंदगी जी रहे हैं, क्योंकि प्यार ही जिंदगी को महान बनाता है।' इसलिए आप भी अपने रिश्तों को प्रेम से सींचें, इन्हें इतना मजबूत बनाएं कि कोई तोड़ न पाएं।

2- कभी बात करना न छोड़े

रिश्ता कोई भी हो बातचीत से आगे बढ़ता है। जहां आप बातचीत करना बंद कर देते हैं, वहां आपका रिश्ता भी रूक जाता है। वहीं से ही रिश्तों में दूरी बढ़ने लगती है। अगर आप लाइफ टाइम तक अपने रिश्तों से जुड़कर रहना चाहते हैं तो एक-दूसरे के बीच बात-चीत हमेशा जारी रखें।

3-अहंकार ना हो हावी

प्रेम से जहां टूटते हुए रिश्ते बन जाते है। वहीं अहंकार से ये रिश्ते खराब हो सकते है। अपने अहंकार को इतना महत्व नहीं देना चाहिए कि उससे आपका रिश्ता खराब हो जाएं। इसलिए अगर कोई झगड़ा हो भी जाए तो पहल कर अपने दोस्त, रिश्तेदार और पार्टनर से बात करें। अपने मन पर ये हावी न होने दे कि 'मैं ही क्यूं करूं, मुझे क्या जरूरत है'

4-साथ में समय बिताएं

आपके रिश्तों में अपनापन है, परवाह है, आदर है। लेकिन अगर आप अपनों को समय नहीं देते हैं, तो आपकी फिक्र का महत्व कम हो जाता है। याद रखिए, बिना टाइम दिए, आप रिश्तों को बेहतर, मधुर नहीं बना सकते हैं। असल में अपनों को समय देकर ही जाना जा सकता है, कि उनके जीवन की समस्याएं क्या हैं? उनका मन क्यों उदास है? फिर मिल बैठकर ही उस समस्या को दूर किया जा सकता है। आप भी चाहे कितना व्यस्त हों, अपनों के लिए समय जरूर निकालिएं। अपनों के साथ गुजारा हुआ समय आपको खुशी और ऊर्जा से भर देगा।

इन बातों का भी रखें ध्यान

- जब कभी अपनों से बातचीत करें तो शब्दों का चयन भी शालीनता से करें।

- अपनी बातों या हरकतों से अपनों का मन कभी ना दुखाएं, क्योंकि मन दुखाने के बाद माफी मांगने से भी उनके मन में एक खरोंच तो रह ही जाएगी।


Next Story