Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

सर्दियों में रूखी त्वचा और बालों से पाना है छुटकारा, तो डाइट में लाएं ये खास बदलाव

सर्दी का मौसम काफी खुशगवार और सुहावना होता है, लेकिन जरा-सी लापरवाही आपको बीमार बना सकती है या फिर कई तरह की हेल्थ प्रॉब्लम्स का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए जरूरी है कि इस दौरान अपनी डाइट को लेकर कॉन्शस रहा जाए। एक्सपर्ट्स से जानिए इस सीजन में कैसी हो आपकी डाइट।

सर्दियों में रूखी त्वचा और बालों से पाना है छुटकारा, तो डाइट में लाएं ये खास बदलाव
सर्दी के मौसम में अपनी डाइट को लेकर कई लोग लापरवाह हो जाते हैं। चटपटा-जायकेदार व्यंजनों का लुत्फ उठाने के लालच में न्यूट्रीशन का ध्यान नहीं रखते हैं। इस वजह से कोई ओवरवेट होने लगता है, किसी की स्किन-बाल ड्राय हो जाते हैं तो कोई सर्दी जुकाम से परेशान रहता है। इन परेशानियों से बचने के लिए अपनी डाइट का खास ख्याल रखना जरूरी है।

इम्यून सिस्टम बनेगा स्ट्रॉन्ग

सर्दी के मौसम के प्रभाव से खुद को सुरक्षित रखने के लिए इम्यून सिस्टम को मजबूत करना सबसे जरूरी है। इसलिए इस मौसम में प्रोटीन और फाइबर से भरपूर फ्रूट्स खाने चाहिए। ड्राई फ्रूट्स जैसे बादाम, अखरोट, काजू, पिस्ता जैसे मेवे हमारे शरीर को देर तक गर्म रखते हैं और ठंड जनित रोगों से बचाते हैं।
इनके अलावा मूली, टमाटर जैसी सब्जियां अधिक खानी चाहिए क्योंकि इनमें एंटिऑक्सिडेंट्स होते हैं और शरीर से टॉक्सिंस को बाहर निकालने में मदद करते हैं। इस मौसम में गजक, रेवड़ी, तिलकुट्टा आदि तिल से बनी चीजें खानी चाहिए क्योंकि इनमें ओमेगा-3 फैटी एसिड होता है। इनमें फैट होने के बावजूद ये मोटापा नहीं बढ़ाते। सर्दियों में डीहाइड्रेशन की समस्या भी हो सकती है, इसलिए पानी भरपूर पीते रहें।

तब वेट रहेगा कंट्रोल

ठंड के मौसम में हमारी फिजिकल एक्टिविटीज कम हो जाती हैं, जबकि पाचन क्रिया तेज हो जाती है। इससे हमें बार-बार भूख लगती है और हम कुछ न कुछ खा लेते हैं। ऐसे में वजन बढ़ने लगता है। इसलिए ऐसी सब्जियों का सेवन करना चाहिए, जो वेट को कंट्रोल में रखे।
1.आलू-आलू खाने से पेट जल्दी भर जाता है और फिर काफी समय तक भूख नहीं लगती। यूनिवर्सिटी ऑफ कैलीफोर्निया की एक रिसर्च में भी यह बात सामने आई कि सर्दियों में वजन कम करने में आलू मददगार है।
2.गोभी-एक कप फूलगोभी में केवल 29 कैलोरी होती है, जबकि फाइबर भरपूर होता है। जाहिर है, वजन कम करने के लिए यह सब्जी बहुत मददगार है।
कद्दू-इसका सेवन करने से वजन कम होता है। कद्दू में फाइबर और केरोटिन प्रचुर मात्रा में पाया जाता है, जो मोटापा कम करने में सहायक है
3.ब्रोकली-इसमें वसा बिल्कुल भी नहीं होता है जबकि विटामिन, प्रोटीन, कार्बोहाईड्रेट आदि खूब पाए जाते हैं। इसके अलावा इसमें कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम आदि तत्व पाए जाते हैं।
4.लौकी-लो कैलोरी वाली इस सब्जी में फाइबर प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। इसमें पानी की मात्रा भी अधिक होती है, जो भूख को नियंत्रित करती है।

सर्दी-जुकाम से बचाव के लिए

ठंड के मौसम में अकसर सर्दी-जुकाम, श्वसन संबंधी बीमारियां परेशान करने लगती हैं। लेकिन सही डाइट अपनाकर काफी हद तक इनसे बचाव किया जा सकता है।
1.आंवला-विटामिन सी से भरपूर आंवले में कई ऐसे पोषक तत्व होते हैं, जो हमारे शरीर के इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाते हैं, वहीं इसमें पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट्स शरीर में मौजूद हानिकारक रसायनों को बाहर निकालते हैं। आंवले के अलावा संतरा, नीबू और मौसंबी खाना भी फायदेमंद है। इनके सेवन से ब्लड शुगर कंट्रोल होता है और एनीमिया से भी बचाव होता है।
2.गाजर-गाजर में भरपूर मात्रा में विटामिन और मिनरल्स होते हैं। इसमें विटामिन ए, विटामिन बी, सी, कैल्शियम और पैक्टिन फाइबर होता है, जो सर्दियों में कॉलेस्ट्रॉल का लेवल बढ़ने नहीं देता। रोजाना गाजर का जूस पीने से सर्दी-जुकाम से रक्षा होती है। गाजर का जूस शरीर की रोग प्रतिरोधक प्रणाली को मजबूत बनाता है जिससे आप इस मौसम में बैक्टीरिया और वायरस के संक्रमण से बचे रहते हैं।

स्किन रहेगी सॉफ्ट

इस मौसम में सर्द और रूखी हवाओं के थपेड़े स्किन को बुरी तरह डैमेज कर देते हैं। हाथ-पैरों की स्किन रूखी हो जाती है, चेहरा मुरझाया हुआ-सा लगने लगता है, होंठ और एड़ियां फटने लगती हैं। ऐसे में त्वचा की कोमलता और लचीलापन बरकरार रखने के लिए सिर्फ मॉयश्चराइजर और क्रीम का प्रयोग पर्याप्त नहीं है, स्किन को भीतर से भी पोषण देना जरूरी है। इसके लिए कुछ स्पेशल फूड्स को भी अपनी डाइट में शामिल करें।
1.खुबानी-इस फल में ऐसे बहुत से तत्व हैं, जो त्वचा को पोषण, ताजगी और सौंदर्य प्रदान करते हैं। इसमें मौजूद एसेंशियल ऑयल गामा लिनोलेनिक एसिड से समृद्ध है, जो स्किन सेल्स को रीजनरेट करती है। इसमें मौजूद विटामिन ए और ई स्किन को हाइड्रेट करता है।
2.ग्रीन टी-ग्रीन टी में जिंक, कैल्शियम, मैग्नीशियम, आयरन और विटामिन सी, डी, के खूब होते हैं। साथ ही इसमें पोलीफेनॉल्स होते हैं, जो स्किन सैल्स को रिजेनरेट होने में मदद देते हैं। इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट सूर्य की किरणों से स्किन को होने वाले नुकसान की भरपाई भी करते हैं।
3.ब्लू बेरीज-ब्लू बेरीज एंटी ऑक्सीडेंट्स से भरपूर होते हैं, इसके अलावा इनमें फाइबर, विटामिन सी और ई जैसे तत्व भी प्रचुर मात्रा में होते हैं, जो प्रीमैच्योर एजिंग और अन्य रोगों के कारक फ्री रैडिकल्स का खात्मा करने में सक्षम हैं। नियमित रूप से ब्लू बेरीज का सेवन करने पर स्किन सेल्स सुरक्षित रहती हैं।
4.टमाटर-फ्री रेडिकल्स हमारी स्किन को डैमेज करते हैं। टमाटर में कैरोटिनॉयड प्रचुर मात्रा में होता है, साथ ही इसमें ऐसे पोषक तत्व होते हैं, जो फ्री रेडिकल्स को कंट्रोल करते हैं।
5.अनार-अनार में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट स्किन को ज्यादा कोलाजेन तैयार करने में मदद करते हैं, जिससे स्किन खुद को तेजी से रिपेयर कर लेती है।

बाल बनेंगे हेल्दी-शाइनी

इस मौसम में बालों को ऊपर से ही नहीं अंदर से भी मजबूती की आवश्यकता होती है। इसलिए न्यूट्रीशस डाइट लें। आप नट्स को अपनी रेग्युलर डाइट में शामिल करें। नट्स में सेलेनियम होता है, जो बालों के लिए काफी फायदेमंद होता है। इनमें अल्फा-लिनोलेनिक एसिड और जिंक भी पाया जाता है, जो बालों का झड़ना कम करता है और इसके विकास में मदद करता है।
ओमेगा-3 फैटी एसिड्स से भरपूर अखरोट के नियमित सेवन से बालों और स्किन को खूब पोषण मिलता है। बाल चमकदार होते हैं और स्किन सॉफ्ट होती है। खजूर बालों के लिए बहुत अच्छा होता है। रोजाना 2-3 खजूर खाने से बाल मजबूत और हेल्दी बनते हैं। खजूर का सेवन बालों को लंबे, घने और मुलायम बनाता है।
अमरूद में विटामिन सी पाया जाता है। यह बालों को स्वस्थ बनाता है। अमरूद, आयरन के अवशोषण में भी सहायक होता है। जो बालों की सेहत के लिए एक महत्वपूर्ण न्यूट्रिएंट है। सर्दी के मौसम में हरी सब्जियां खूब आती है। बालों की मजबूती के लिए इनका सेवन समुचित मात्रा में करें।
पालक, ब्रोकली, बथुआ, मेथी और दूसरी हरी पत्तेदार सब्जियां विटामिन ए और सी से भरी होती हैं। त्वचा को सीबम बनाने के लिए इसकी बड़ी मात्रा में जरूरत होती है। सीबम एक ऑयली पदार्थ होता है, जिसका स्राव हेयर फॉलिकल से होता है। इसके अलावा हरी सब्जियों से हमारे शरीर को आयरन और कैल्शियम भी मिलता है, जो स्वस्थ शरीर और स्कैल्प के लिए काफी फायदेमंद होता है।
Next Story
Top