logo
Breaking

लहसुन खाने से ये बीमारियां होती हैं दूर

आयुर्वेद में लहसुन के लिए कहा जाता है कि इसके सेवन से आप जवान बने रहेगे।

लहसुन खाने से ये बीमारियां होती हैं दूर

लहसुन बहुस समय से औषधीय प्रयोजनों के लिए प्रयोग किया जा रहा है। लहसुन का वैज्ञानिक नाम एलियम सैटिवुम एल है। बता दे लहसुन में खास गंध होती है।

लहसुन का स्वाद तीखा होता है जो कि पकाने के बाद इसका स्वाद से काफी हद तक बदल जाता है। लहसुन में रासायनिक तौर पर गंधक की अधिकता होती है।

इसे पीसने पर ऐलिसिन नामक यौगिक प्राप्त होता है जो प्रतिजैविक विशेषताओं से भरा होता है। इसके अलावा इसमें प्रोटीन, एन्ज़ाइम तथा विटामिन बी, सैपोनिन, फ्लैवोनॉइड आदि पदार्थ पाये जाते हैं।

लहसुन का इस्तेमाल खाने का स्वाद बढाने में किया जाता है। इसके इस्तेमाल से खाना का टेस्ट बदल जाता है। लेकिन आप जानते है कि लहसुन की एक कली हमारे शरीर को कई बीमारियों से बचाता है।

ये आपके खाने का स्वाद ही नहीं बढाता है बल्कि आपके सेहत का भी ख्याल रखता है। अगर आप इसकी एक कली का सेवन खाली पेट करते है तो यह हमारे शरीर के लिए किसी अमृत से कम नहीं है।

आयुर्वेद में लहसुन के लिए कहा जाता है कि इसके सेवन से आप जवान बने रहेगे। साथ ही यह कई बीमारियों से जैसे कि बवासीर, कब्ज, कान का दर्द, ब्लड प्रेशर, भूख बढाने आदि में किया जाता है। लहसुन एक महत्वपूर्ण प्राकृतिक एंटीबायोटिक की तरह काम करता है।

आयुर्वेद में लहसुन को जवान बनाए रखने वाली औषधियों में प्रयोग किया जाता है। यह जोड़ों के दर्द में भी अचूक दवा है। लहसुन हाई बीपी से भी बचाता है।

लहसुन खाने से हाइपरटेंशन के लक्षणों से आराम मिलता है। यह ब्लड सर्कुलेशन को ठीक करता है। दिल से संबंधित समस्याओं को भी दूर करता है। लीवर और मूत्राशय को भी सुचारू रूप से काम करने में सहायक होता है।

लहसुन पाचन तंत्र को भी ठीक करता है। इसके सेवन से भूख भी बढ़ती है। जब भी आपको घबराहट होती है और पेट में एसिड बनता है। लहसुन इस एसिड को बनने से रोकता है।

Share it
Top