Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

जमीन पर बैठकर खाना खाने से होते हैं ये कमाल के फायदे, पास नहीं भटकती ये बीमारियां

इन दिनों हर कोई वेस्टर्न कल्चर को अपनाने के लिए परेशान है। यही कारण है कि आज कल कोई जमीन पर बैठकर खाना नहीं खाना चाहता है। घर में तो फिर भी लोग बेड या कुर्सी पर बैठकर खाना खाते हैं, लेकिन शादी-विवाह में बुफे सिस्टम के चलते लोग खड़े होकर ही खाना खाते हैं।

जमीन पर बैठकर खाना खाने से होते हैं ये कमाल के फायदे, पास नहीं भटकती ये बीमारियां

इन दिनों हर कोई वेस्टर्न कल्चर को अपनाने के लिए परेशान है। यही कारण है कि आज कल कोई जमीन पर बैठकर खाना नहीं खाना चाहता है। घर में तो फिर भी लोग बेड या कुर्सी पर बैठकर खाना खाते हैं, लेकिन शादी-विवाह में बुफे सिस्टम के चलते लोग खड़े होकर ही खाना खाते हैं।

क्या आपको पता है कि इस तरह से लंच या डिनर करना आपकी सेहत के लिए नुकसानदायक हो सकता है। आज के समय में लोग जमीन पर बैठकर खाना नहीं चाहते, लेकिन जमीन पर बैठकर खाने के बहुत सारे लाभ होते हैं।

आमतौर पर लंच के समय व्यक्ति घर से बाहर रहता है, ऐसे में कोशिश करनी चाहिए कि वह रात का खाना जमीन पर बैठकर ही खाए।

यह भी पढ़ें: इन बीमारियों के लिए रामबाण का काम करेगा नारियल, जानें इसके फायदे

जमीन पर बैठकर खाने के फायदे

  • जमीन पर बैठकर खाने से वजन नहीं बढ़ता है और मोटापा कंट्रोल में रहता है।
  • जमीन पर बैठना और फिर उठना एक अच्छा व्यायाम है।
  • जमीन पर बैठकर खाना खाने से स्वास्थ्य सही रहता है।
  • नीचे बैठकर खाने से व्यक्ति की रीढ़ की हड्डी के निचले भाग पर जोर पड़ता है और उससे शरीर को आराम पहुंचता है।
  • जमीन पर बैठकर खाना खाने से मांसपेशियों में खिंचाव भी कम होता है, जिससे ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रहता है।
  • पाचन क्रिया की समस्या से परेशान हैं तो यह समस्या जमीन पर बैठकर खाना खाने से दूर हो जाएगी।
  • जमीन पर बैठकर खाना खाने पर निवाला मुंह में डालने के लिए प्लेट की तरफ झुकना पड़ेगा, जिससे पेट की मांसपेशियां लगातार कार्यरत रहती हैं और खाना आसानी से पच जाता है।
  • जमीन पर बैठने से पीठ के निचले हिस्से और कूल्हे की मांसपेशियों में लगातार खिंचाव होता रहता है। यही कारण है कि शरीर में होने वाले दर्द और असहजता से छुटकारा मिलता है।
Next Story
Top