Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Winter Health Tips: सर्दियों में चुकंदर का जूस पीने से मिलते है गजब के फायदे लेकिन ये लोग रहें दूर

वैसे तो चुकंदर (Beetroot) आपको सभी मौसम में आसानी से मिल जाती है, मगर सर्दियों में इसका सेवन करने से आपको गजब के फायदे मिलते हैं। यह आपके शरीर में खून की कमी को पूरा करता है, पेट साफ रखने में मदद करता है और आपकी इम्यूनिटी (Immunity) को बढ़ाता है।

Winter Health Tips: सर्दियों में चुकंदर का जूस पीने से मिलते है गजब के फायदे लेकिन ये लोग रहें दूर
X

Winter Health Tips: सर्दियों में चुकंदर का जूस पीने से मिलते है गजब के फायदे लेकिन ये लोग रहें दूर

Beetroot Health Benefits: वैसे तो चुकंदर (Beetroot) आपको सभी मौसम में आसानी से मिल जाती है, मगर सर्दियों में आप चंकुदर के जूस का सेवन कर सकते हैं। इसस आपको गजब के फायदे मिलेंगे। यह आपके शरीर में खून की कमी को पूरा करता है, पेट साफ रखने में मदद करता है और आपकी इम्यूनिटी (Immunity) को बढ़ाता है। आइए जानते हैं कि चुकंदर के फायदों और किन लोगों को इसका सेवन करने से बचना चाहिए।

क्या पाया जाता है चुकंदर

चुंकदर में जिंक, विटामिन बी 1, बी 2, बी 6, वसा, सल्फर, पोटेशियम, मैग्नीशियम और कैल्शियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है। यह आपके स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है।

चुकंदर के फायदे

-खून की कमी को दूर करती है।

-इम्यूनिटी सिस्टम को मजबूत करती है।

-इसमें फाइबर की मात्रा अधिक होती है, इससे पाचन तंत्र को मजबूत करती है।

-हाई ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद करती है।

-शरीर में ऑक्सीजन को बढ़ाने का काम करती है।

-बालों की ग्रोथ के लिए अच्छी होती है।

-स्किन के लिए अच्छी होती है। आप इसे अपने फेस पर भी अप्लाई कर सकते हैं, इससे डेड सेल खत्म साफ हो जाती है।

ये लोग न करें चकुंदर का सेवन

1- पथरी के मरीज

जिन लोगों को किडनी और पिथ की थैली में पथरी होती है, उन्हें चुकंदर का सेवन करने से बचना चाहिए। यह आपकी समस्या को ओर ज्यादा बढ़ा सकती है।

2- लो ब्लड प्रेशर के मरीज

जिन लोगों का ब्लड प्रेशर लो रहता है। उन्हें चुकंदर का सेवन करने से बचना चाहिए। हेल्थ एक्सपर्ट्स बताते हैं कि जो लोग चुकंदर का सेवन करते हैं। उनका ब्लड प्रेशर और ज्यादा लो हो सकता है। इससे उनकी परेशानी बढ़ जाती है।

3- डायबिटीज के मरीज

जिन लोगों को डायबिटीज की समस्या है, उन्हें चुकंदर का सेवन नहीं करना चाहिए। इसमें ग्लाइसेमिक इंडेक्स की मात्रा ज्यादा होती है। जिससे मरीजों को ब्लड शुगर बढ़ सकता है।

Next Story