Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अगर आप भी लेते हैं दर्द की गोली ''एस्प्रिन'' तो ध्यान से पढ़ें ये खबर, रिसर्च में हुआ बड़ा खुलासा

दर्द की गोली ''एस्प्रिन'' को लेकर एक रिसर्च में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। एक नए शोध में पता चला है कि रोजाना एस्प्रिन की खुराक लेने से दिल का दौरा पड़ने का खतरा कम नहीं होता।

अगर आप भी लेते हैं दर्द की गोली

दर्द की गोली 'एस्प्रिन' को लेकर एक रिसर्च में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। एक नए शोध में पता चला है कि रोजाना एस्प्रिन की खुराक लेने से दिल का दौरा पड़ने का खतरा कम नहीं होता।

दर्द की गोली 'एस्प्रिन' का इस्तेमाल दर्द निवारक के रूप में 16वीं शताब्दी से किया जा रहा है। न्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ मेडिसिन में प्रकाशित तीन अध्ययनों के मुताबिक 70 साल के अपेक्षाकृत स्वस्थ्य बुजुर्गों को प्रतिदिन एस्प्रिन की हल्की डोज (100मिलीग्राम) देने के बावजूद उनमें दिल का दौरा पड़ने का खतरा कम नहीं हुआ और न ही वृद्धावस्था से जुड़ी अन्य प्रकार की बीमारियों का खतरा कम हुआ।

यह भी पढ़ें : अगर आप भी हैं स्ट्रेस से परेशान, तो टेक्नो डिटॉक्स थेरेपी करें यूज

दर्द की गोली 'एस्प्रिन' को लेकर एक रिसर्च में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। एक नए शोध में पता चला है कि रोजाना एस्प्रिन की खुराक लेने से दिल का दौरा पड़ने का खतरा कम नहीं होता।

गौरतलब है कि एस्प्रिन का इस्तेमाल दर्द निवारक के रूप में 16वीं शताब्दी से किया जा रहा है। वर्ष 1960 से इसकी पहचान एक ऐसी औषधि के रूप में होती रही है, जो उन लोगों में दिल का दौरा पड़ने के खतरे को कम देता है जो पहले भी इसका सामना कर चुके हैं।

यह भी पढ़ें :प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाएं भूलकर भी न करें ये गलतियां, हो सकती हैं ये गंभीर बीमारियां

न्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ मेडिसिन में प्रकाशित तीन अध्ययनों के मुताबिक 70 साल के अपेक्षाकृत स्वस्थ्य बुजुर्गों को प्रतिदिन एस्प्रिन की हल्की डोज (100मिलीग्राम) देने के बावजूद उनमें दिल का दौरा पड़ने का खतरा कम नहीं हुआ और न ही वृद्धावस्था से जुड़ी अन्य प्रकार की बीमारियों का खतरा कम हुआ।

‘एएसपीआरईई' नाम के इस अध्ययन में ऑस्ट्रेलिया और अमेरिका के 19,000 से अधिक लोगों पर सात से ज्यादा अध्ययन किया गया। ऑस्ट्रेलिया के मोनाश विश्वविद्यालय में प्रोफेसर जॉन मैकनील ने कहा, ‘‘इस लंबे और जटिल अध्ययन से यह संदेश मिलता है कि स्वस्थ बुजुर्ग लोगों को स्वस्थ बनाए रखने के लिए एस्प्रिन से कोई मदद नहीं मिलती।

Next Story
Top