logo
Breaking

वजन घटाने के आसान तरीके : भूलकर भी वजन घटाते वक्त न करें ये गलतियां, वरना हो सकता है ये बड़ा नुकसान

वजन कम करने के लिए एक्सरसाइज और डाइट कंट्रोल के अलावा हम कई ऐसी मिसटेक्स करते हैं, जिनसे वजन तो कम हो जाता है लेकिन इनके नेगेटिव इफेक्ट्स थोड़े समय बाद सामने आने लगते हैं। क्या हैं वे गलतियां और कैसे उन गलतियों से बचें, आइए जानें।

वजन घटाने के आसान तरीके : भूलकर भी वजन घटाते वक्त न करें ये गलतियां, वरना हो सकता है ये बड़ा नुकसान
जिन लोगों का वेट ज्यादा होता है, वे अपना वेट लूज करने के लिए कुछ गलत हैबिट्स को अपना लेते हैं। इससे सेहत को काफी नुकसान होता है। इसलिए जरूरी है कि वेट लूज करते समय सावधानी बरती जाए।

एक साथ ज्यादा खाना

पूरे दिन कुछ न खाना और रात के समय ज्यादा खाना, अकसर लोग वजन घटाने के लिए ऐसा करते हैं। दिन के समय अपनी दूसरी एक्टिवटीज में बिजी रहने के कारण वे अकसर नाश्ता या दोपहर का खाना नहीं खाते। उन्हें लगता है कि ऐसा करने से वेट तेजी से लूज होगा लेकिन इसकी वजह से शरीर पर नेगेटिव असर होता है। दोपहर 12 बजे से लेकर शाम 4 बजे तक हमारा मेटाबॉलिज्म उच्च स्तर पर होता है और रात को 9 बजे के बाद यह बेहद धीमा हो जाता है। जिस समय मेटाबॉलिज्म का स्तर सबसे अधिक होता है, उस दौरान अपने आपको भूखा रखना और रात के समय जब इसकी गति कम हो जाती है ज्यादा खाना हार्मफुल होता है। इससे वजन तो नहीं घटता लेकिन शरीर को इसका नुकसान जरूर होता है।

डाइट प्रोडक्ट्स का सेवन

वजन घटाने के लिए डाइट प्रोडक्ट्स जैसे चॉकलेट और दूसरे डाइट ड्रिंक्स का ज्यादा सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि इससे वजन भले घट जाए लेकिन दूसरी और शारीरिक समस्याएं हो सकती हैं। सप्ताह में तीन किलो वजन कम करने के लिए फैंसी डाइट लेना, जो वजन कम करने का दावा करती हो, शरीर को नुकसान पहुंचाता है। जब तक आप ऐसी डाइट लेते हैं, तब तक तो वजन कम रहता है लेकिन ऐसी डाइट छोड़ने के बाद दोबारा बढ़ जाता है।

जॉगिंग के फायदे : आपको फिट रखने के अलावा इस काम भी आती है जॉगिंग, जानें

नॉन ऑयली फूड्स

वजन घटाने के लिए हमेशा बिना तले फूड्स खाने पर लोग जोर देते हैं। नॉन ऑयली फूड्स हर बार स्वादहीन और बोरिंग लगता है। नॉन ऑयली फूड्स का लंबे समय तक सेवन मन को सुकून नहीं देता है। इसलिए सादा भोजन लगातार न करके बीच-बीच में ऑयली खाना खा सकते हैं।

ज्यादा एक्सरसाइज

बहुत ज्यादा एक्सरसाइज से वजन भले ही कम होता हो लेकिन इससे थकान होती है और मसल्स प्रभावित हो सकती हैं। ज्यादा एक्सरसाइज करने से भूख भी अधिक लगती है और हम ओवरईट भी करते हैं। जिससे वजन घटने की बजाय बढ़ सकता है।

क्रैश डाइटिंग

कुछ लोग तेजी से वेट लूज करने के लिए क्रैश डाइटिंग फॉलो करते हैं। तेजी से कैलोरी की मात्रा कम करने से शरीर में उन पौष्टिक तत्वों की कमी हो जाती है, जिनकी हमारे शरीर को बहुत ज्यादा जरूरत होती है। इससे शरीर में कमजोरी आने के कारण त्वचा पर झुर्रियां पड़ जाती हैं और चेहरे की सुंदरता भी बिगड़ जाती है।

बार-बार वेट चेक करना

दिन में चार बार अपना वजन मापना, यह सुनने में थोड़ा अटपटा लगता है। लेकिन कई बार लोग अपने वजन को लेकर इतने परेशान हो जाते हैं कि बार-बार अपने वजन को मापते हैं और अपनी इस आदत से टेंशन में रहने लगते हैं। इस हैबिट से भी दूर रहना चाहिए।

दूसरों से तुलना

अगर परिवार में कई सदस्य या फ्रेंड सर्किल में एक साथ वजन घटाने के लिए प्रयास कर रहे हों तो एक-दूसरे के साथ अपने रिजल्ट की तुलना करने से भी निराशा होती है। क्योंकि वेट लूज करना एक पर्सनल एक्टिविटी है और दूसरों के कम वजन को देखकर अपने बढ़े वजन के लिए खुद को कोसना, मेंटल हेल्थ के लिए ठीक नहीं है।
Share it
Top