Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

रहने के लिए सुरक्षित देशों में शामिल है ये दुनिया के 7 देश

इन देशों में क्राइम रेट न के बराबर है वजह है यहां के सख्त कायदे-कानून

रहने के लिए सुरक्षित देशों में शामिल है ये दुनिया के 7 देश
X
नई दिल्ली. दुनिया में ऐसी कई सारी जगहें हैं जो अपने ही नहीं बाहर से घूमने आने वाले टूरिस्टों को भी खास सुविधाएं देती हैं। ये सारे देश घूमने के लिहाज से जितने अच्छे हैं रहने के लिए उतने ही सुरक्षित। इन देशों में क्राइम रेट न के बराबर है वजह है यहां के सख्त कायदे-कानून। आइए जानते हैं ऐसे ही कुछ देशों के बारे में....
चेक रिपब्लिक
दुनिया के कोने-कोने से टूरिस्ट प्राग के खूबसूरत नजारों को देखने आते हैं। सेफ कंट्री की लिस्ट में प्राग नंबर वन है क्योंकि यहां क्राइम न के बराबर है। अगर आप यहां आम बोलचाल की भाषा नहीं जानते तो आपके लिए 112 हेल्पलाइन नंबर है। अगर आप यूएस सिटीजन हैं तो आपके लिए घूमने और बिजनेस करने का बेहतरीन मौका हो सकता है क्योंकि यहां वीजा के लिए 90 दिनों की छूट है। बाकी के यूरोपियन देशों की तुलना में यहां रहना, खाना सस्ता और बहुत ही अच्छा है। ट्रांसपोर्ट के रूप में यहां ट्रॉम, सबवे और बसें चलती हैं। गर्मियों में यहां पहाड़ों पर और सड़कों पर साइकिल राइड का मजा ले सकते हैं और सर्दियों में स्कीइंग का।
ऑस्ट्रेलिया
रिटॉयरमेंट के बाद की लाइफ को सुकून और एन्जॉय करने हुए बिताना चाहते हैं तो ऑस्ट्रेलिया जाना एक अच्छा ऑप्शन हो सकता है। यहां अलग-अलग कल्चर के लोग मिल जाएंगे। यहां फैमिली और फ्रेंड्स जैसे रिलेशनशिप्स को लोग टॉप पर रखते हैं। देश के कोने-कोने से लोग यहां पढ़ाई करने के लिए आते हैं। कई सारी हेल्थकेयर सुविधाएं यहां के लोकल और बाहर से आने वाले लोगों के लिए अवेलेबल हैं। अपने स्किल्स और एनर्जी को नया आयाम देना चाहते हैं तो यकीन मानिए ऑस्ट्रेलिया बेस्ट है।
जापान
दुनिया के सबसे सुरक्षित देशों के लिस्ट में जापान भी शामिल है। जहां क्राइम रेट बहुत ही कम है जिसके पीछे जापान के लोगों का अपने कल्चर को खास तवज्जो देना है। यहां के नियम-कानून, इकोनॉमी बताती है कि जापान हर किसी के लिए पूरी तरह सुरक्षित है। साल 2010 के ग्लोबल पीस इन्डेक्स के मुताबिक जापान दुनिया का तीसरी सबसे शांत और सुरक्षित देश है।
कनाडा
कनाडा दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा देश है जहां सबसे ज्यादा विदेशी रहते हैं। इसकी वजह है इसका सुरक्षित होना। कनाडा अपने सिटीजन्स को बहुत ही कम रेट में हेल्थ इन्श्योरेंस देता है जिससे आप पब्लिक हो या प्राइवेट दोनों ही तरह के हॉस्पिटल्स में अच्छे ट्रीटमेंट्स का फायदा उठा सकते हैं। रोजगार के मामले में भी कनाडा काफी अच्छी जगह है जहां एनर्जी से लेकर कम्यूनिकेशन, रियल स्टेट और कई तरह के फाइनेंशियल सर्विस की शुरूआत की जा सकती है। सर्दियों में यहां लगभग 6 महीने तक कड़ाके वाली ठंड पड़ती है। यहां आकर आप सुकून और शांति वाली लाइफ बिता सकते हैं।
फिनलैंड
फिनलैंड को खासतौर से डेमोक्रेटिक, ह्यूमन राइट्स और सिविल लिबर्टी वाला देश माना जाता है। जहां क्राइम रेट कम है। फ्रेंडली एन्वायरन्मेंट है, इकोनॉमी स्टेबल है। कह सकते हैं हर लिहाज से बेहतर है। सजा के तौर पर यहां नागरिकों को मिलने वाली सारी सुविधाओं से बेदखल कर दिया जाता है और उन पर अच्छा खासा फाइन भी लगाया जाता है। फिनलैंड में लिटरेसी रेट पूरे 100 प्रतिशत है। इसका कारण हैं यहां सबको एक जैसी एजुकेशन सुविधाओं का मिलना। यहां के लोकल हों या इंटरनेशनल सभी में अव्वल दर्ज की सुविधाएं मिलती हैं।
स्विट्जरलैंड
स्विट्जरलैंड की अपनी 4 ऑफिशियल भाषाएं हैं और इसे 26 इन्डिपेंडेंट राज्यों में बांटा गया है। जिसके अपने नियम और कानून हैं। स्विट्जरलैंड की सरकार को अपने सही काम-काज के लिए जाना जाता है क्योंकि वहां हिंसा, राजनीतिक मुद्दे और बेरोजगार न के बराबर है। जिसके चलते यहां विदेशों तक से इन्वेस्टर्स आते हैं। दुनिया के कई सारे बड़े बैंकों के हेडक्वॉटर्स भी यहां हैं। आपको जानकर हैरानी होगी कि यहां कि लगभग एक तिहाई जनसंख्या स्विट्जरलैंड की नहीं है। हर सेकेंड में यहां ट्रांसपोर्ट की सुविधाएं अवेलेबल रहती हैं। क्राइम रेट कम होना, इकोनॉमी बैलेंस होना, इसे दुनिया की शांत और सुरक्षित देशों में शामिल करता है।
आगे की स्लाइड्स में पढ़िए, पूरी खबर-

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story