Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

इंडिया में बाइक राइडर्स के लिए यें जगह हैं सबसे अधिक फेवरेट

पुरुषों को हमेशा से ही बाइक राइडिंग का शौक रहा है और जब राइडिंग एडवेंचर से भरी हो तो इसकी बात ही अलग होती है।

इंडिया में बाइक राइडर्स के लिए यें जगह हैं सबसे अधिक फेवरेट
नई दिल्ली. पुरुषों को हमेशा से ही बाइक राइडिंग का शौक रहा है और जब राइडिंग एडवेंचर से भरी हो तो इसकी बात ही अलग होती है। काम करते-करते थक गए हैं और किसी छोटे वेकेशन की प्लानिंग कर रहे हैं तो निकल जाएं इन शानदार सड़कों के सफर पर। जहां ऊंचे पहाड़, गहरे झरने, समुंदर और खूबसूरत हरे-भरे जंगल आपका इंतजार कर रहे हैं।
लेह, लद्दाख
बाइक से लद्दाख जाते वक्त ऐसे कई सारे नजारे देखने को मिलते हैं जो खूबसूरती और आश्चर्य दोनों के ही लिए जाने जाते हैं। देश के कोने-कोने से इस रूट पर बाइक राइडिंग का लुत्‍फ लेने के लिये लोग आते हैं। चारो तरफ पहाड़ों से घिरे इस रूट पर ड्राइविंग का अपना एक अलग ही मजा है। ऊंचे पहाड़ों के बीच से निकलता खारदूंगला रोड, जो दुनिया भर में अपनी ऊंचाई के लिए जाना जाता है। यहां का मौसम, बौद्ध कल्चर सब एक अलग ही अहसास देते हैं। इसके अलावा यहां का मैग्‍नेटिक रोड खासतौर से मशहूर है।
बेस्ट टाइम टू गो- अप्रैल से अगस्त तक
स्पीती वैली
हिमाचल की स्पीती वैली का रास्ता लद्दाख से ज्यादा दूर नहीं। बाइक राइडिंग करते वक्त यहां जाने का मजा ही अलग है। स्पीती वैली तक पहुंचने के लिए काजा, टैबो, स्पीती और पीन वैली जैसी कई खूबसूरत जगहें देखने को मिलती हैं। बस्पा और किन्नौर एरिया में राइडिंग के वक्त सड़कों के किनारे सेब, खूबानी के पेड़ और सतलुज नदी की खूबसूरती के साथ बर्फ से ढ़के मंदिरों को आसानी से देखा जा सकता है।
बेस्ट टाइम टू गो - अप्रैल से अक्टूबर तक
वालपराई और वाझाचल फॉरेस्ट
बाइक राइडिंग के लिए यह रूट बेस्ट है। यह रास्ता तमिल के पोलाची को केरला के चालाकुडी को कनेक्ट करता है। यहां राइडिंग के दौरान घने और हरे-भरे जंगल देखने को मिलते हैं। इस एरिया में बहुत ज्यादा बारिश होती है जिसकी वजह से यहां कई सारे छोटे-छोटे वाटर फॉल्स देखने को मिल सकते हैं।
बेस्ट टाइम टू गो - साल में कभी भी
मुंबई-गोवा
इंडिया के बिजनेस कैपिटल मुंबई से गोवा तक बाइक से सफर करना भी काफी मजेदार है। अमेरिका के 101 हाइवे से काफी मिलती-जुलती इस सड़क को इंडिया में बेस्ट कोस्टल राइडिंग के लिए जाना जाता है। 10 घंटे के इस एडवेंचरर्स सफर को मुंबई में रहने वाले लोग कभी भी एन्जॉय कर सकते हैं। कई सारी फिल्मों की शानदार लोकेशन्स तक में इसका इस्तेमाल किया जा चुका है। आमिर खान, अक्षय खन्‍ना और सैफ अली खान स्टारर ‘दिल चाहता है’ उनमें से एक है।
बेस्ट टाइम टू गो- अक्टूबर से फरवरी तक

वेस्टर्न अरुणाचल प्रदेश
वेस्टर्न अरुणाचल प्रदेश की भी सैर को बाइक से यादगार बनाया जा सकता है। हिमालय की ऊंची चोटियों को राइडिंग के वक्त देखना बहुत ही अच्छा एक्सपीरिएंस होता है। हालांकि यहां सड़कों की कमी है जिसके चलते पहाड़ी ऊंचे-नीचे रास्तों से गुजरना होता है। सफर के दौरान बर्फ से ढ़की सड़कें, ट्राइबल कल्चर और उनकी अलग सी लाइफस्टाइल को कैमरे में आसानी से कैद किया जा सकता है।
बेस्ट टाइम टू गो- मार्च से मई तक और अक्टूबर से नवंबर तक
जयपुर-जैसलमेर
दोनों तरफ रेगिस्‍तान और बीच में हाइवे, ऐसे एडवेंटर ट्रिप को शायद ही भूल पाएंगे। 600 किलोमीटर लंबे सफर में राजस्‍थानी कल्चर देखने के कई मौके मिलते हैं इसके साथ ही बीच-बीच में जोधपुर, ओसियां, पोकरन जैसे स्‍टॉपेज आते हैं जो आपकी सैर को और भी मजेदार बनाएंगे।
बेस्ट टाइम टू गो- अक्टूबर से फरवरी
अहमदाबाद-कच्‍छ
चारो तरफ सफेद चादर सी फैली रेत हर किसी को रोमांच से भर देती है। दूर तक फैले रेत के बीचों-बीच बाइक का सफर एक अलग ही एक्सपीरिएंस देता है जहां बाइक पर ब्रेक लगा पाना मुश्किल है। रात में यहां राइडिंग करते वक्त ऐसा लगता है जैसे खुले आसमान में सितारे भी साथ चल रहे हों।
बेस्ट टाइम टू गो- दिसंबर टू फरवरी
दार्जिलिंग-सिक्किम
यहां राइडिंग के दौरान ईस्टर्न हिमालय की खूबसूरती के साथ ही यूनेस्को की वर्ल्ड हेरिटेज में शामिल हिमालयन रेलवे को भी आसानी से देखा जा सकता है। बर्फ की चादरों से घिरा दार्जिलिंग हिंदू और बौद्ध कल्चर का मिलाजुला राज्य है। यहां से कंचनजंघा की ऊंची चोटियों भी दिखाई देती हैं। फ्रेंड्स के अलावा फैमिली के साथ भी वेकेशन पर आना यादगार रहेगा।
बेस्ट टाइम टू गो- पूरे साल भर

शिलांग-चेरापूंजी
जहां शिलांग को ऊंची पहाड़ियों के लिए जाना जाता है तो वहीं चेरापूंजी बारिश के लिए मशहूर है। तो जाहिर है बारिश की फुहारों के बीच पहाड़ों का सफर किसी एडवेंचर से कम नहीं होगा। हालांकि ऐसे मौसम में बाइक राइडिंग के वक्त खास ध्यान देने की भी जरूरत होती है।
बेस्ट टाइम टू गो- अक्टूबर से मार्च तक
नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, पूरी खबर-
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Share it
Top