Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

डायबिटीज और दिल के मरीज को सरकार ने दिया झटका, 108 दवाएं होंगी महंगी

सरकार के इस फैसले के खिलाफ फार्मा कंपनियां बॉम्बे हाईकोर्ट पहुंची थी।

डायबिटीज और दिल के मरीज को सरकार ने दिया झटका, 108 दवाएं होंगी महंगी
X
नई दिल्ली. दिल की बीमारी और डायबिटीज की 108 दवाएं महंगी हो जाएंगी। सरकार ने 108 दवाओं को प्राइस कंट्रोल के दायरे में लाने की गाइडलाइंस वापस ले ली है और इन दवाओं को सस्ती दवा की सूची से बाहर कर दिया है। इसका सन फार्मा, ल्यूपिन, रैनबैक्सी, सिप्ला जैसी कंपनियों को फायदा मिलेगा। ध्यान रहे कि 10 जुलाई को ही इन दवाओं को सस्ती दवा की सूची में डाला गया था लेकिन फार्मा कंपनियां सरकार के इस फैसले का विरोध कर रही थीं। सरकार के इस फैसले के खिलाफ फार्मा कंपनियां बॉम्बे हाईकोर्ट पहुंची थी।

सेंट्रम ब्रोकिंग के सीनियर वीपी रणजीत कपाड़िया के मुताबिक एनपीपीए का अपना प्राइस कंट्रोल का ऑर्डर वापिस लेने से सनोफी, जायड्स, कैडिला, रैनबैक्सी और ल्युपिन को घाटा नही होगा। एनपीपीए के इस फैसले से बाकी कंपनियों को भी फायदा होगा लेकिन ज्यादा फायदा इन कंपनियों को ही होगा। ऑर्डर वापिस लिए जाना पूरी इंडस्ट्री के लिए अच्छी खबर होगी। वहीं फाइजर के पूर्व एमडी केवल हांडा ने एनपीपीए के इस फैसले का स्वागत करते हुए कहां कि फार्मा कंपनियों के लिए ये एक अच्छी खबर है।

रसायन एवं उर्वरक मंत्रालय के तहत फार्मास्युटिकल्स विभाग ने एनपीपीए को दवा मूल्य नियंत्रण आदेश 2013, के अंतर्गत जारी मूल्य नियंत्रण संबंधी दिशानिर्देशों को वापस लेने का निर्देश दिया था। इसके तहत एनपीपीए को गैर अनिवार्य दवाओं का मूल्य नियंत्रित करने का अधिकार मिला था। एनपीपीए ने सोमवार को इस आदेश का अनुपालन किया हालांकि यह आगे की तारीख से लागू होगा।

नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, हृदय रोग से बचने के उपाय-
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story