Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Farmer Movement: सुखबीर सिंह बादल बोले- जब नये कृषि कानूनों नहीं चाहते किसान तो जबरदस्ती क्यों?

Farmer Movement: एसएडी प्रमुख सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि वो केंद्र सरकार द्वारा काले कानून वापिस न लेने के फैसले की कड़ी निंदा करते हैं। साथ ही बादल ने कहा कि जब किसान इन कानूनों को नहीं चाहते तो ये क्यों रख रहे हैं?

sad leader sukhbir singh badal targets central government on new agricultural laws
X

सुखबीर सिंह बादल 

किसान आंदोलन: नये कृषि कानूनों के मसले को लेकर आज केंद्र सरकार की ओर कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित किया। जिस पर शिरोमणि अकाली दल प्रमुख (एसएडी) प्रमुख सुखबीर सिंह बादल की ओर से गुरुवार की देर शाम को प्रतिक्रिया सामने आई है।

सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि हम केंद्र सरकार द्वारा काले कानून वापिस न लेने के फैसले की कड़ी निंदा करते हैं। आज केंद्र सरकार की प्रेस कॉन्फ्रेंस से यह बात स्पष्ट हो गई कि केंद्र सरकार ने देश के अन्नदाता के खिलाफ लड़ाई लड़ने का फैसला किया है।

एसएडी प्रमुख सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि धक्के के साथ वहीं कानून लागू किए जाते हैं जिन देशों में डिक्टेटरशिप का राज होता है। बड़ा अफसोस है कि केंद्र सरकार ने अब डिक्टेटरशिप का रास्ता अपनाना शुरू कर दिया है।

एसएडी प्रमुख सुखबीर सिंह बादल ने इस दौरान केंद्र सरकार द्वारा पूर्व में लिये गये नोटबंदी और जीएसटी के फैसलों को लेकर भी निशाना साधा। सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि पहले जैसे इन्होंने यानिक कि केंद्र सरकार ने नोटबंदी फोर्स की, जीएसटी फोर्स किया। वैसे ये चाहते हैं कि हम जो भी फैसला दफ्तरों में बैठकर बनाएं। उसे हम जबरदस्ती लागू करें। वहीं सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि जब सारे देश के किसान इन नये कृषि कानूनों को नहीं चाहते तो मुझे समझ नहीं आ रहा कि ये नये कृषि कानून क्यों रख रहे हैं?


Next Story