Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

PNB SCAM : नीरव मोदी के भारत प्रत्यर्पण की मंजूरी मिली, तो कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद ने उठाया ये सवाल...

पंजाब नेशनल बैंक (PNB) से करीब 14 हजार करोड़ की लोन धोखाधड़ी मामले में वांछित हीरा कारोबारी नीरव मोदी को ब्रिटिश कोर्ट ने किसी भी तरह की राहत देने से इनकार कर दिया। कोर्ट ने उसके मानसिक रूप से बीमार होने की दलील भी खारिज कर दी। कोर्ट ने नीरव मोदी के लिए मुंबई की ऑर्थर रोड जेल (Arthur Road Jail) की बैरक नंबर-12 को फिट बताया। कोर्ट ने क्या कहा, यहां पढ़िये...

PNB SCAM : नीरव मोदी के भारत प्रत्यर्पण की मंजूरी मिली, तो कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद ने उठाया ये सवाल...
X

ब्रिटिश कोर्ट ने नीरव मोदी के लिए मुंबई की ऑर्थर रोड जेल की बैरक नंबर 12 को फिट बताया। 

पंजाब नेशनल बैंक (PNB) से करीब 14 हजार करोड़ की लोन धोखाधड़ी मामले में वांछित हीरा कारोबारी नीरव मोदी (nirav modi) के भारत प्रत्यर्पण का रास्ता साफ हो गया है। ब्रिटिश कोर्ट ने नीरव मोदी को किसी भी तरह की राहत देने से इनकार करते हुए उसे भारत प्रत्यार्पित करने का आदेश सुनाया। कोर्ट ने नीरव मोदी के लिए मुंबई की ऑर्थर रोड जेल (Arthur Road Jail) की बैरक नंबर-12 को फिट बताया। साथ ही कहा कि भारत प्रत्यर्पण होने पर नीरव मोदी से कोई नाइंसाफी नहीं होगी।

नीरव मोदी के प्रत्यर्पण पर कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद ने पूछा, 'यह किसकी कामयाबी है, हमारी एजेंसियों की या वहां (ब्रिटेन) के क़ानून की। जो होना चाहिए था वो हो रहा है, इसका स्वागत है। अब वो (नीरव मोदी) यहां आएं और जो सच है उसको स्वीकार करें और सामने रखें।'

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक लंदन में वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट की अदालत में जज सैमुअल गूजी ने नीरव मोदी के प्रत्यर्पण पर फैसला सुनाया। कहा कि नीरव मोदी को अगर भारत भेजा जाता है तो ऐसा नहीं है कि उन्हें वहां इंसाफ नहीं मिलेगा। कोर्ट ने नीरव मोदी की मानसिक स्थिति ठीक न होने की दलील और भारत की जेल में सुविधाएं न मिलने की दलीलों को भी खारिज कर दिया। कोर्ट ने कहा कि नीरव मोदी के लिए मुंबई की ऑर्थर रोड जेल की बैरक नंबर 12 नीरव के लिए सही रहेगी। भारत प्रत्यर्पण होने के बाद नीरव मोदी को इंसाफ मिलेगा।

अभी भारत लाने में लगेगा समय

पीएनबी फ्रॉड मामले में वांछित नीरव मोदी को भारत लाने में अभी समय लगेगा। नीरव मोदी के प्रत्यर्पण मामला अब आखिरी मुहर के लिए गृहमंत्री प्रीति पटेल के पास जाएगा। वहीं मीडिया रिपोर्ट का कहना है कि नीरव के पास हाईकोर्ट में अपील करने का भी मौका है, जिससे मामला खींच सकता है। बता दें कि नीरव मोदी 19 मार्च 2019 को गिरफ्तार होने के बाद से जेल में है। उसकी जमानत याचिका हर बार खारिज कर दी गई, क्योंकि उसके लंदन से फरार होने की आशंका है।

इतनी संपत्ति का मालिक है नीरव

फोर्ब्स के मुताबिक नीरव मोदी की 2017 में कुल संपत्ति 11700 करोड़ रुपए थी, जबकि लोन फ्रॉड 14 हजार करोड़ से अधिक का है। यह धोखाधड़ी गारंटी पत्र के जरिए की गई। सीबीआई के साथ ही ईडी ने भी उसके खिलाफ मामले दर्ज किए हैं।

Next Story