Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Kaam ki Baat: कोविड की वजह से कैंसिल हुई शादी तो मिलेंगे 10 लाख रुपए, बस करना होगा ये छोटा सा काम

कोरोना काल (Corona Virus) में लगे लॉकडाउन (Lockdown) के कारण कई लोगों को अपनी शादी कैंसिल करानी पड़ी, जिसके चलते लोगों को काफी आर्थिक नुकसान का सामना करना पड़ा। आपको तो पता ही है कि बैंकेट हॉल, मैरिज हॉल, फार्म हाउस आदि की एडवांस बुकिंग की कीमत काफी ज्यादा होती है और ऐसे में कई बार ये लोग पैसा रिफंड करने से मना भी कर देते हैं। ऐसे में आप एक छोटा सा काम करके 10 लाख रुपए तक ले सकते हैं।

Kaam ki Baat: कोविड की वजह से कैंसिल हुई शादी तो मिलेंगे 10 लाख रुपए, बस करना होगा ये छोटा सा काम
X

इस समय पूरा विश्व कोरोना महामारी (Corona Virus) की मार झेल रहा है। कोरोना की पहली और दूसरी लहर ने पूरी दुनिया को तबाही की कगार पर लाकर खड़ा कर दिया था। दूसरी लहर ने भारत के हेल्थ सिस्टम की हालत खस्ता कर दी थी। वैश्विक महामारी के चलते भारत में शादी, पार्टी और फंक्शन सभी पर काफी ज्यादा असर पड़ा था। देश में लॉकडाउन (Lockdown) लगते ही कई सारी शादियां की तारीख आगे बढ़ा दी गई थी। देश में पहली और दूसरी लहर में लगे लॉकडाउन के बाद लोगों का जीवन धीरे धीरे पटरी पर लौटने ही लगा था कि कोरोना का नया वेरिएंट ओमिक्रॉन (Omicron) आ गया।

देश की राजधानी दिल्ली में ओमिक्रॉन के केस सबसे ज्यादा हैं। कोरोना को ध्यान में रखते हुए दिल्ली में येलो अलर्ट जारी कर दिया गया है। जिसके चलते अब शादी और अंतिम संस्कार में सिर्फ 20 लोगों के शामिल होनें की अनुमति मिली है। रिपोर्ट्स की मानें तो कोरोना के इस तीसरे वेरिएंट के संक्रमण की क्षमता पिछले दोनों वेरिएंट से कहीं अधिक है। जिसका मतलब है कि देश भर में इसे लेकर के सख्ती दिखाई जाएगी। कोरोना को लेकर अगर सख्ती हुई तो जिन लोगों की शादी के फंक्शन जनवरी और फरवरी में होनें है उनके लिए थोड़ी चिंता की बात है। कोरोना के कारण कई सारे लोग आर्थिक नुकसान झेलने के बावजूद शादियां कैंसिल करा रहे हैं। अगर आप भी इस लिस्ट में आते हैं तो ये खबर आपके लिए काफी काम की साबित हो सकती है। अगर आप कोरोना के दौरान शादी कैंसिल कराते हैं तो आपको 10 लाख रुपए का मुआवजा मिल सकता है। जिसके लिए आपको बस कुछ काम करने होंगे।

1. वेडिंग इंश्योरेंस (Wedding Insurance Policy) है आपके सवालों का जवाब

कोरोना काल में लगे लॉकडाउन के कारण कई लोगों को अपनी शादी कैंसिल करानी पड़ी, जिसके चलते लोगों को काफी आर्थिक नुकसान का सामना करना पड़ा। आपको तो पता ही है कि बैंकेट हॉल, मैरिज हॉल, फार्म हाउस आदि की एडवांस बुकिंग की कीमत काफी ज्यादा होती है और ऐसे में कई बार ये लोग पैसा रिफंड करने से मना भी कर देते हैं। इन हालातों से निबटने के लिए देश की कई बड़ी कंपनियां आपको वेडिंग इंश्योरेंस देती हैं। इस इंश्योरेंस में आपको शादी कैंसिल होने से लेकर जेवर चोरी होने और शादी के अचानक बाद एक्‍सीडेंट होने पर मुआवजा दिया जाता है।

2. इन शर्तो के साथ मिलता है इंश्योरेंस क्लेम (Insurance Claim)

हमारे देश में शादी एक बड़ा त्यौहार है, जिसे काफी धूमधाम से मनाया जाता है। जिसे देखते हुए देश की कई बड़ी कंपनियां वेडिंग इंश्योरेंस प्रोवाइड कराती हैं। जिसमें इंश्योरेंस कंपनी आपके बजट के हिसाब से पैकेज ऑफर करते हैं। इस इंश्योरेंस के क्लेम के लिए कंपनी कुछ शर्तें भी रखती है जिन पर आपको पैसा दिया जाता है। यहां हम आपको उन शर्तो के बारें में बता रहें हैं, जिन पर आपको क्लेम का पैसा मिल सकता है।

केटरर एडवांस बुकिंग पर मिलता है क्लेम

हॉल या रिसॉर्ट की बुकिंग पर दिए गए एडवांस पर

ट्रैवल एजेंसी की एडवांस बुकिंग पर दिए गए पैसो पर

शादी के कार्ड छपवाने को लेकर किए गए खर्चे पर

म्यूजिक यानी कि डीजे वगैरह के लिए खर्च किए गए पैसों पर

वैन्यू और डेकोरेशन को लेकर खर्च किए गए पैसों पर

3. इन पर नहीं मिलता क्लेम

टैररिस्ट अटैक

किसी हड़ताल के होनें पर

अचानक शादी के कैंसिल या टूटने पर

दूल्हा या दुल्हन के किडनैपिंग केस में

शादी में पर्सनल चीजें जैसे कपड़े आदि के नुकसान पर

अचानक से वेन्यू में बदलाव या इसके कैंसल होनें पर

मैकेनिकल या इलेक्ट्रिकल खराबी के कारण

वेन्यू की देखरेख में हुए नुकसान के कारण

जानबूझकर कोई नुकसान या आत्महत्या करने के कारण

4. ऐसे तय की जाती है रकम

वेडिंग इंश्योरेंस का क्लेम इस पर तय किया जाता है कि आपने कितने रुपयों का बीमा कराया है। आप शादी की तारीख आगे बढ़ने पर भी वेडिंग इंश्योरेंस क्लेम कर सकते हैं। इस इंश्योरेंस में जितनी राशी का आप बीमा कराते हैं उसका 0.7 परसेंट से लेकर 2 परसेंट तक का प्रीमियम देना होता है। जिसका मतलब है कि अगर आप 10 लाख रुपये का बीमा कराते हैं तो इसके प्रीमियम के तौर पर आपको केवल 7,500 से 15,000 रुपये तक देना होगा।

Next Story