Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पहला कैदी - शक्लें भी खूब धोखा देती हैं...

पहला कैदी - शक्लें भी खूब धोखा देती हैं...

पहला कैदी - शक्लें भी खूब धोखा देती हैं...

पहला कैदी - शक्लें भी खूब धोखा देती हैं

एक बार एक साहब मुझे दिलीप कुमार समझ बैठे ।

दूसरा कैदी - ठीक कह रहे हो , मेरे साथ भी ऐसा ही हुआ
मुझे देखकर एक साहब जवाहरलाल नेहरू का धोखा खा गए ।
तीसरा कैदी - अजी , यह तो कुछ भी नहीं ।
मैं जब चौथी बार जेल पहुंचा . तो जेलर बोला - हे भगवान ! तू फिर आ गया ।
Next Story
Top