Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बच्‍चों की अजब-गजब तस्‍वीरें, जि‍न्‍हें देखकर लोटपोट हो जाएंगे आप

कुछ तस्‍वीरें जि‍नमें बच्‍चों के हाव-भाव देखने लायक हैं।

बच्‍चों की अजब-गजब तस्‍वीरें, जि‍न्‍हें देखकर लोटपोट हो जाएंगे आप
नई दि‍ल्‍ली. बच्‍चों की हरकतें अक्‍सर हंसने पर मजबूर करती हैं। सोते-जागते, खाते-पीते बच्‍चों के हाव-भाव देखने वाले होते हैं। कुछ चुटकुलों के साथ हम आपके लि‍ए लाए हैं बच्‍चों की मजेदार तस्‍वीरें जि‍न्‍हें देखकर आप लोटपोट हो जाएंगे।
टीचर ने बच्चे से पूछा : ‘‘रोने और सोने में क्या फर्क है ?’’ मारवाड़ी बच्चा : ‘‘हमारे में कहते हैं कि रोने से व्यापार बढ़ता है और सोने से परिवार।’’
पिता पुत्र से : आज तुम स्कूल क्यों नहीं गए ?
पुत्र : कल हम लोगों को स्कूल में तौला गया था। आज बेच दिया जाएगा। यही कारण है कि मैं आज स्कूल नहीं गया।
शिक्षक :(विद्यार्थी से) भारत वर्ष के मानचित्र में कुतुबमीनार कहां है ?
विद्यार्थी : पता नहीं सर।
शिक्षक : तो बैंच पर खड़े हो जाओ।
विद्यार्थी : (बेंच पर खड़ा होकर) सर ! यहां से भी कुतुबमीनार नहीं दिख रहा है।
पिताजी डांटते हुए- राजू तुम्हें फूल तोड़ लाने को कहा था और तुम पूरी डाली सहित तोड़ लाए, जल्दी बोलो कि क्यों ?
राजू- पिताजी, वहां लिखा था कि फूल तोड़ना मना है इसलिए मैं डाली सहित तोड़ लाया।
महिला : तुमने मेरे बेटे की पिटाई क्यों की ?
मोटी महिला : उसने मुझे मोटी भैंस कहा था।
महिला : तो बहन, तुम्हें बेटे को पीटने के बजाय अपनी खुराक में कमी करनी चाहिए।
एक लड़के ने नई-नई साइकिल चलानी सीखी थी। वह साइकिल चलाते हुए पैडल से पैर उठाकर बोला : रवि, देख मेरे हाथ नहीं है। इतना कहते ही वह साइकिल से गिर गया। रवि उसके पास आकर बोला : राजू देख, अब तेरे दांत भी नहीं हैं।


राजू : अगर प्रिंसिपल ने अपने शब्द वापस न लिए तो मैं स्कूल छोड़ दूंगा।
मोहन : क्या कहा था प्रिंसिपल ने ?
राजू : कहा था, स्कूल छोड़ दो।
माँ बेटे से : बेटे, घर में कायदे से रहना चाहिए। तुम्हें मेरी हर बात माननी चाहिए।
बेटे ने सिर हिलाते हुए कहा : मैं समझ गया मम्मी, जैसे पापा रहते हैं।
नीचे की स्‍लाइड्स में देखें बच्‍चों की मजेदार तस्‍वीरें-
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर-
Next Story
Top