Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

लेबर पेन से महिला पैदल भटकती रही, अस्पताल वालों ने भी नहीं दी जगह, सड़क पर डिलीवरी होने से बच्चे की मौत

महिला लेबर पेन से अस्पताल के चक्कर में भटकती रही। इसी बीच सड़क पर प्रसव (Delivery) के कारण बच्चे की मौत हो गई।

लेबर पेन से महिला पैदल भटकती रही, अस्पताल वालों ने भी नहीं दी जगह, सड़क पर डिलीवरी होने से बच्चे की मौत
X

झारखंड के भागलपुर में अस्पताल वालों की लापरवाही सामने आई है। एक गर्भवती महिला लेबर पेन से अस्पतालों की चक्कर काटती रही, लेकिन किसी ने इंसानियत नहीं दिखाई। अस्पताल के चक्कर लगाने के दौरान महिला को सड़क पर ही प्रसव (Delivery) हो गया।

इससे बच्चा सड़क पर गिरने से मौत (Child Death) हो गई। यह घटना शनिवार की है। बताया जा रहा है कि दियारा निवासी कुंतीदेवी को शनिवार रात ढाई बजे प्रसव पीड़ा हुई। इसके बाद वह डेढ़ किलोमीटर पैदल चलकर महादेव सिंह कॉलेज के पास पहुंची।

ई-रिक्शे के माध्यम से वह सुबह साढ़े चार बजे तक सदर अस्पताल पहुंची। जहां नर्सों ने कहा कि थोड़ी देर में उसकी डिलीवरी करवा दी जाएगी। इसके कुछ देर बाद बिना कोई साधन दिए उसे मायागंज भेज दिया। इस कारण कुंती पैदल ही मायागंज के लिए निकल पड़ी।

Also Read-यूपी में आरएसएस नेता की अमानवीय हरकत, शादी से इंकार पिता और बेटे को निर्वस्त्र कर की पिटाई

सुबह करीब साढ़े छह बजे मायागंज पहुंची। इस बीच रजिस्ट्रेशन काउंटर के पास ही उसकी डिलीवरी हो गई। इससे बच्चे सड़क पर गिरने से मौत हो गई। महिला के साथ आशा कर्यकर्ता भी मौजूद थी। उन्होंने बताया कि डिलीवरी के दौरान सड़क पर बच्चे गिरने से मौत हुई।

जबकि नर्सों का कहना है कि बच्चे की गर्भ में ही माैत हाे चुकी थी। गर्भवती के दौरान महिला ने एक बार भी जांच नहीं कराई। शुक्रवार शाम को घर पर ही उसकी डिलीवरी करवाने की कोशिश की गई। जब कोई सुविधा नहीं हो पाई तो उसे अस्पताल लाया गया।

सिविल सर्जन डॉ. विजय कुमार सिंह ने बताया कि डाॅक्टर ताे हमारे पास नहीं है, लेकिन तीन लेडी डाॅक्टर हैं। यहां रात में काेई डॉक्टर नहीं रहता है। डिलीवरी का कार्य नर्सां को कराना चाहिए था। हालांकि लापरवाही के तहत जांच कर दोषी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Priyanka Kumari

Priyanka Kumari

Jr. Sub Editor


Next Story