Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

गुमला में एंबुलेंस नहीं मिलने के कारण हुई एक महिला की मौत, 108 नंबर एंबुलेंस के इंतजार में थे परिजन

रिश्तेदारों ने जब महिला की स्थिति के बारे में डॉक्टर से बात की तो डॉक्टर ने तुरंत उसे रांची के रिम्स हॉस्पिटल रेफर कर दिया। लेकिन रिश्तेदार हॉस्पिटल में तीन घंटो तक एंबुलेंस के इंतजार में खड़े रहे।

गुमला में एंबुलेंस नहीं मिलने के कारण हुई एक महिला की मौत, 108 नंबर एंबुलेंस के इंतजार में थे परिजनगुमला में एंबुलेंस नहीं मिलने के कारण हुई एक महिला की मौत

सदर अस्पताल में एक महिला की मौत बस इस वजह से हो गई क्योंकि उसे समय पर एंबुलेंस की सुविधा नहीं मिल पाई। महिला 48 वर्ष की थी और उसकी स्थिति बहुत नाजुक होने के कारण उसे रिम्स रेफर किया गया था।

कौन थी महिला

महिला का नाम सधन देवी था। वो 48 साल की थी। रिश्तेदारों के अनुसार 29 जनवरी को महिला की तबीयत बहुत खराब होने के कारण उसे सदर अस्पताल लाया गया था। लेकिन शुक्रवार को दोपहर के समय अचानक से उसका पेट फूलने लगा जिसके बाद रिश्तेदार परेशान होने लगे।

नहीं मिली एंबुलेंस

रिश्तेदारों ने जब इस मामले को लेकर डॉक्टर से बात की तो डॉक्टर ने तुरंत उसे रांची के रिम्स हॉस्पिटल रेफर कर दिया। महिला की स्थिति बिगड़ती ही जा रही थी और रिश्तेदार हॉस्पिटल में तीन घंटो तक एंबुलेंस को ढ़ुंढ़ने में लगे थे। हॉस्पीटल मैनेजमेंट से मिन्नतों का भी कोई फायदा नहीं हुआ और 6 बजे के करीब सधन देवी की मौत हो गई।

सिविल सर्जन ने गठित की कमिटी

सिविल सर्जन विजया भेंगका ने कहा कि हमने इस मुद्दे की जांच की तो पता लगा कि रिश्तेदार 108 नंबर एंबुलेंस के इंतजार में थे। एंबुलेंस के ड्राइवर से बात होने के बाद भी वो बहुत देर तक उसका इंतजार करते रहे। अंत में सदर अस्पताल के ही एंबुलेंस से जाने की बात हुई लेकिन तब तक महिला की मौत हो गई। सिविल सर्जन ने कहा है कि उन्होंने इस मामले में जांच कमिटी का गठन किया है।

क्या है राज्य में एंबुलेंस की संख्या

बता दें कि सदर अस्पताल में 2 एंबुलेंस की व्यवस्था है। जबकि जिलेभर में 108 नंबर एंबुलेंस की संख्या 8 है।

Next Story
Top