Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

नक्सली का दावा, जेल से बाहर आते ही राजनीति में कदम

कुंदन पाहन ने नेताओं के स्टाइल में भाषण देते हुए कहा कि वह जेल से रिहा होने के बाद राजनीति में आना चाहते हैं।

नक्सली का दावा, जेल से बाहर आते ही राजनीति में कदम

झारखंड के वीरप्पन कहे जाने वाले कुंदन पाहन ने पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया है। पाहन वहीं इनामी नक्सली है जिसपर हत्या और डकैती के सौ से ज्यादा मामले दर्ज थे।

सोमवार को पुलिस के सामने सरेंडर करने पर पुलिस ने पाहन को 15 लाख रुपए की चेक देकर स्वागत किया। इस दौरान कुंदन पाहन ने नेताओं के अंदाज में भाषण भी दिया।

उन्होंने कहा कि जेल से रिहा होने के बाद राजनीति में आएंगे और समाज सेवा करेंगे।

बता दें कि कुंदन पाहन को करीब 6 साल पहले संगठन ने निष्काषित कर दिया था। उस वक्त पाहन जोनल कमांडर था। उस समय झारखंड सरकार ने उसपर 15 लाख रुपए के इनाम की घोषणा की थी।

झारखंड के लोगों में विरप्पन के नाम से था खौफ

आपको बता दें कि 2008 में कुंदन पाहन ने बुंडू के तत्कालीन डीएसपी प्रमोद कुमार सहित 6 अन्य पुलिसकर्मियों को लैंड माइंस विस्फोट से उड़ा दिया था।

इस घटना के कुछ ही दिन बाद 8 जुलाई को पाहन ने पूर्व मंत्री रमेश सिंह मुंडा को एक स्कूल परिसर में हत्या कर दी।

जिगरी दोस्त का किया सिर कलम

कभी ज्योति मुंडा कुंदन पाहन का जिगरी दोस्त हुआ करता था। अपने सारे राज कुंदन ज्योति से शेयर करता था। लेकिन पुलिस से मुखबीर के चक्कर में पाहन ने अपने पूरे दस्ते के सामने उसका सिर कलम कर दिया था।

Next Story
Top