Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

लोकसभा चुनाव 2019 : झारखंड के रण में 61 प्रत्याशी मैदान में, 65,87,028 मतदाता करेंगे इनकी किस्मत का फैसला

झारखंड में दूसरे चरण में 6 मई को जिन चार सीटों के लिए मतदान होगा उनके लिए कुल 8834 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। इन मतदान केंद्रों पर कुल 65,87,028 मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे। झारखंड के दूसरे चरण में जहां रांची से सर्वाधिक बीस उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं वहीं खूंटी सीट से सबसे कम 11 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं।

लोकसभा चुनाव 2019 : झारखंड के रण में 61 प्रत्याशी मैदान में, 65,87,028 मतदाता करेंगे इनकी किस्मत का फैसला

झारखंड में दूसरे चरण और देश के पांचवें चरण में सोमवार को राजधानी रांची, खूंटी, कोडरमा और हजारीबाग समेत कुल चार लोकसभा सीटों के लिए 61 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं और उनके भाग्य का फैसला 65,87,028 मतदाता करेंगे। झारखंड के मुख्य निर्वाचन अधिकारी एल खियांग्ते ने आज बताया कि कोडरमा, रांची, खूंटी (अनुसूचित जनजाति के लिए सुरक्षित) और हजारीबाग लोकसभा सीट के लिए 6 मई को मतदान होगा।

उन्होंने बताया कि झारखंड में दूसरे चरण में 6 मई को जिन चार सीटों के लिए मतदान होगा उनके लिए कुल 8834 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। इन मतदान केंद्रों पर कुल 65,87,028 मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे। झारखंड के दूसरे चरण में जहां रांची से सर्वाधिक बीस उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं वहीं खूंटी सीट से सबसे कम 11 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं।

रांची में जहां 19,10,955 मतदाता हैं वहीं कोडरमा में 1812085, खूंटी में 1199512 और हजारीबाग में कुल 1664476 मतदाता हैं। सोमवार को होने वाले इस चरण के मतदान में कोडरमा में भाजपा की अन्नपूर्णा यादव और झारखंड विकास मोर्चा के प्रमुख और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी में ही मुख्य मुकाबला होने की संभावना है। हालांकि, यहां से भाकपा (माले लिबरेशन) के उम्मीदवार पार्टी के वर्तमान विधायक राजकुमार यादव कुछ इलाकों में मुकाबले को त्रिकोणीय बना रहे हैं जिसका सीधा लाभ भाजपा की उम्मीदवार को मिल सकता है।

अन्नपूर्णा यादव यहां से राजद की विधायक रह चुकी हैं और वह पूर्व में कैबिनेट मंत्री भी रह चुकी हैं। यहां से भाजपा ने अंतिम क्षणों में अपने निवर्तमान सांसद रवींद्र राय का टिकट काट कर राजद से पार्टी में शामिल हुईं अन्नपूर्णा देवी को टिकट दिया है, जिससे रविंद्र राय खासे नाराज हैं और समझा जाता है कि वह पार्टी के खिलाफ बड़ा भितरघात कर सकते हैं। कोडरमा लोकसभा क्षेत्र में दो लाख से अधिक भूमिहार मतदाता हैं और उनमें से एक बड़ी संख्या रवींद्र राय का टिकट काटने से नाराज है। इन मतदाताओं के रुख पर भी कोडरमा के चुनाव परिणाम काफी हद तक निर्भर करेगा।

हजारीबाग में भाजपा के उम्मीदवार केन्द्रीय विमानन राज्य मंत्री जयंत सिन्हा का सीधा मुकाबला महागठबंधन की ओर से चुनाव मैदान में उतरे कांग्रेस के उम्मीदवार गोपाल प्रसाद साहू से होने की संभावना है। हालांकि, यहां से भी भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के उम्मीदवार दो बार के सांसद एवं भाकपा के राज्य सचिव भुवनेश्वर प्रसाद मेहता के चुनाव मैदान में होने से कई इलाकों में मुकाबला त्रिकोणीय होने की संभावना है जिसका लाभ भाजपा उम्मीदवार को हो सकता है। खूंटी में हो रहे चुनाव में भाजपा के उम्मीदवार पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा का सीधा मुकाबला कांग्रेस के कालीचरण मुंडा से है और यहां काफी रोचक मुकाबला होने की संभावना है।

यहां भी भाजपा ने अपने निवर्तमान सांसद वरिष्ठ नेता कड़िया मुंडा का टिकट काट दिया जिससे एक वर्ग पार्टी से नाराज था। लेकिन अर्जुन मुंडा ने अपने व्यक्तिगत संबन्धों का इस्तेमाल कर अपने प्रचार में कड़िया मुंडा को अपने साथ रखा जिससे इस नुकसान की काफी हद तक भरपाई हो गयी लगती है। यहां से भाजपा ने आरोप लगाया है कि गिरिजाघरों से कांग्रेस उम्मीदवारों के पक्ष में मतदान का फरमान जारी किया गया है और उन्होंने इस मामले की जांच की मांग भी की है। यदि वास्तव में यहां अल्पसंख्यक समुदाय ने भाजपा के खिलाफ मतदान किया तो कांग्रेस की स्थिति मजबूत हो सकती है।

यहां पिछले दो वर्षों में अनेक आदिवासी गांवों में पत्थलगड़ी कर आदिवासी संस्कृति की रक्षा के नाम पर नक्सलियों का सहयोग कर रहे तत्वों पर पिछले वर्ष पुलिस की सख्त कार्रवाई से एक तबका नाराज है और वह भी भाजपा के खिलाफ मतदान कर सकता है। यद्यपि अनेक गांवों में इन लोगों ने मतदान के बहिष्कार की भी बात कही है। झारखंड की राजधानी रांची में इस बार सबसे रोचक मुकाबला होने की संभावना है, क्योंकि यहां भाजपा ने अपने पांच बार के सांसद रामटहल चैधरी का टिकट अंतिम क्षणों में काट दिया जिससे वह नाराज होकर निर्दलीय चुनाव मैदान में उतर गए हैं।

जाति से महतो रामटहल इस क्षेत्र से लगभग तीन लाख महतो मतदाताओं को प्रभावित कर सकते हैं। यहां भाजपा ने खादी बोर्ड के अध्यक्ष संजय सेठ को चुनाव मैदान में उतारा है और यहां से उनका मुकाबला कांग्रेस के प्रत्याशी पूर्व केन्द्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय से है। इस सीट से भी भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी ने विकासचंद्र शर्मा को अपना उम्मीदवार बनाया है। इस चरण के लिए जहां भाजपा की ओर से स्वयं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, केन्द्रीय मंत्री पीयूष गोयल एवं अन्य अनेक नेताओं ने चुनाव प्रचार किया वहीं कांग्रेस और महागठबंधन की ओर से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने चुनाव प्रचार किया।

चुनाव आयोग ने इस चरण के लिए होने वाले मतदान के लिए सुरक्षा के व्यापक प्रबंध किए हैं और अनेक अतिसंवेदनशील बूथों के लिए मतदान कर्मियों को हेलीकाप्टर से ले जाने का भी प्रबंध किया गया है। इससे पहले, पहले चरण में 29 अप्रैल को झारखंड में पलामू, चतरा और लोहरदगा के लिए मतदान संपन्न हो चुका है जिसमें शांतिपूर्ण ढंग से कुल 64.95 प्रतिशत मतदान हुआ था। इस दौरान कहीं से भी किसी प्रकार की हिंसा की कोई खबर नहीं है।

Next Story
Top