Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अब झारखंड सरकार पत्रकारों को देगी पेंशन

केरल में भी पत्रकारों को पेंशन दी जाती है।

अब झारखंड सरकार पत्रकारों को देगी पेंशन

झारखंड सरकार ने राज्य के पत्रकारों को सेवानिवृत्ति के बाद दस हजार रुपये मासिक की पेंशन देने की घोषणा की है। राजधानी में सीएम रघुवर दास ने शुक्रवार शाम नव निर्मित रांची प्रेस क्लब के भवन का उद्घाटन किया, केरल सरकार द्वारा स्वीकृत नीति के अनुरूप राज्य के पत्रकारों को पेंशन देने की घोषणा की।

केरल में पत्रकारों को दस हजार रुपये प्रति माह का पेंशन दी जाती है। प्रेस क्लब के उद्घाटन के बाद सीएम दास ने कहा कि पत्रकारों के लिए पेंशन योजना भी केरल की तर्ज पर आज से लागू की जाएगी। प्रेस क्लब में लाइब्रेरी और जिम भी होगा।

क्लब में लाइब्रेरी के लिए सीएम रघुवर दास ने ‘मुख्यमंत्री विवेकानुदान कोष' से तीन लाख रुपये देने की घोषणा की जबकि क्लब में जिम बनाने की जिम्मेदारी रांची के विधायक, शहरी विकास मंत्री सीपी सिंह ने ली। स्थानीय सांसद रामटहल चौधरी ने प्रेस क्लब को तीन लाख रुपये के सहयोग देने की घोषणा की।

सीएम ने कहा कि राज्य के अन्य प्रमंडलों में भी प्रेस क्लब के भवन बनाए जाएंगे। राज्य के स्थापना दिवस पर पंद्रह नवंबर को देवघर, धनबाद के प्रेस क्लब के भवन का आनलाईन शिलान्यास होगा।

इस अवसर पर दास ने कहा कि सरकार आलोचना से नहीं डरती है, लेकिन तथ्यपरक आलोचना हो। कमियों को दिखाना मीडिया का काम है। बिना तथ्यों की खबरों से बचना चाहिए। पत्रकारों का काम सनसनी फैलाना नहीं है। इससे विश्वसनीयता खोती है। मर्यादा का पालन सभी को करना चाहिए।

उन्होंने कहा कि लोकशाही की मजबूती के लिए मीडिया का मजबूत होना जरूरी है। प्रेस क्लब में हर तीन माह में अन्य राज्यों के पत्रकारों को बुलायें, उनसे अनुभव सुनें। इसी प्रकार साहित्यकारों को भी आमंत्रित करें। इससे हर किसी को सीखने को मिलेगा। उन्होंने कहा कि जीएसटी जैसे विषयों पर भी कार्यशाला का आयोजन करें। इसमें सरकार अपने अधिकारियों को भी भेजेगी।

इससे पत्रकारों को भी विषय की पूरी जानकारी हो पायेगी, जिससे उन्हें खबर लिखने में आसानी होगी और वह जनता को भी सही जानकारी दे सकेंगे। काम के बाद पत्रकार आपस में भी बैठें और विषयों पर चर्चा करें। इससे लोकतंत्र को मजबूती मिलेगी।

कार्यक्रम में नगर विकास मंत्री सीपी सिंह ने कहा कि अखबार अब दैनिक जीवन की आदत बन चुका है। प्रेस की स्वतंत्रता के वह समर्थक हैं और इसी हेतु वह आपातकाल में जेल भी जा चुके हैं। सूचना जनसंपर्क विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार एवं रांची प्रेस क्लब के अध्यक्ष बलबीर दत्त ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया।

Next Story
Top