Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

चार हजार लेकर करोड़पति बनाने वाली कंपनी भागी, दो हजार लोगों को लगाया चूना

हमारे देश में बुजुर्ग अक्सर कहते सुने जाते हैं कि किस्मत में नहीं लिखा तो कुछ नहीं मिलने वाला। इसी लिए लोग ये मान लेते हैं कि मेहनत से भला हो न हो पर किस्मत से तो भला संभव है। झारखंड के रांची से ऐसा ही एक मामला सामने आया हैं जहां बेरोजगार युवाओं लगा था कि अब दिन बदलने वाला है तभी किस्मत ऐसी पलटी की सब मिट्टी में मिल गया।

चार हजार लेकर करोड़पति बनाने वाली कंपनी भागी, दो हजार लोगों को लगाया चूना

हमारे देश में मेहनत से ज्यादा किस्मत को तवज्जो दी जाती है। बुजुर्ग तो अक्सर कहते सुने जाते हैं कि किस्मत में नहीं लिखा तो कुछ नहीं मिलने वाला। इसी लिए लोग ये मान लेते हैं कि मेहनत से भला हो न हो पर किस्मत से तो भला संभव है। झारखंड के रांची से ऐसा ही एक मामला सामने आया हैं जहां बेरोजगार युवाओं लगा था कि अब दिन बदलने वाला है तभी किस्मत ऐसी पलटी की सब मिट्टी में मिल गया।

झारखंड के रांची में 4 महीने पहले स्मोक मल्टी प्रोजेक्ट प्राइवेट लिमिटेड (Smoke Multi Project Private Limited) नाम की चिटफंड कंपनी खुली। कंपनी ने स्थानीय अखबारों में विज्ञापन दिया कि 'घर बैठे कमाएं 10 हजार रुपए महीना' इसके बाद तो बेरोजगार लड़के लड़कियों की भीड़ लग गई। कंपनी ने सबसे 4-4 हजार रुपए लिए और काम के तौर पर चैन सिस्टम के जरिए और लोगों को जोड़ने की जिम्मेदारी सौंपी।


लोग कमीशन की लालच में जुड़ते गए। और अपने साथियों को भी जोड़ते गए। कंपनी का कारोबार हजारों, लाखों से बढ़कर करोड़ो में पहुंच गया। स्मोक मल्टी प्रोजेक्ट लिमिटेड ने इसी 20 तारीख को सभी युवाओं को गारेटेंड मनी (Guaranteed money) वापस करने की बात कही थी लेकिन जब वहां लोग पहुंचे तो मामला फिर हेरा फेरी की तरह था। सिर्फ ऑफिस थी बाकी सभी फरार हो गए थे।

अपने साथ हुई ठगी के बाद युवकों ने वहां हंगामा शुरू कर दिया। मौके पर भारी संख्या में पुलिस पहुंच गई और हंगामा कर रहे लोगों को भगाने के लिए लाठी पटका। युवाओं ने कंपनी के फरार मालिक के खिलाफ लिखित शिकायत दर्ज करवाई है। प्रशासन ने मामला दर्ज करके कार्रवाई का आश्वासन दिया है। फरार मैनेजर को तलाशने के लिए पुलिस की टीम गठित की गई है।

गौरतलब है कि इस कंपनी का उद्देश्य ही ठगना था इसके लिए कंपनी ने युवाओं को टारगेट किया और करोड़पति बनने का सपना दिखाया। जल्दी अमीर बनने के लिए युवाओं ने बिना कुछ सोचे कंपनी में शामिल गए। और जो कहा गया वो करते चले गए। और आखिर में ठगी का शिकार हो गए। रांची में ऐसी कई और कंपनियां भी काम कर रही हैं। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।

Next Story
Top