Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

भाजयुमो के अध्यक्ष ने जारी किया बयान, कहा- अग्निवेश ने भारतीय संस्कृति को पाखंड बताकर तोड़ने का प्रयास किया

भारतीय जनता युवा मोर्चा (भाजयुमो) ने स्वामी अग्निवेश पर आरोप लगाया है कि वह भारतीय सभ्यता एवं संस्कृति को पाखंड बताकर हिंदू समाज को तोड़ने का प्रयास कर रहे हैं और आदिवासी समाज के भोले-भाले लोगों को भड़का रहे हैं।

भाजयुमो के अध्यक्ष ने जारी किया बयान, कहा- अग्निवेश ने भारतीय संस्कृति को पाखंड बताकर तोड़ने का प्रयास किया

भारतीय जनता युवा मोर्चा (भाजयुमो) ने स्वामी अग्निवेश पर आरोप लगाया है कि वह भारतीय सभ्यता एवं संस्कृति को पाखंड बताकर हिंदू समाज को तोड़ने का प्रयास कर रहे हैं और आदिवासी समाज के भोले-भाले लोगों को भड़का रहे हैं।

भाजयुमो के झारखंड प्रदेश अध्यक्ष अमित कुमार ने एक बयान जारी कर आरोप लगाया कि अग्निवेश ने पाकुड़ में हिंदू धर्म को पाखंड बताते हुए कहा कि हिंदू धर्म की परम्पराएं झूठ हैं, जिससे यह स्पष्ट होता है कि स्वामी अग्निवेश झारखंड की भोली-भाली जनता और आदिवासी समाज में फूट डालकर समाज को तोड़ने का प्रयास कर रहे हैं।
कुमार ने स्वामी अग्निवेश के उस वक्तव्य की निंदा की जिसमें उन्होंने कथित तौर पर देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और झारखंड सरकार के मुख्यमंत्री रघुवर दास पर अभद्र टिप्पणी की है।
उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि अग्निवेश के भाषण में नक्सलवादियों को पुरजोर समर्थन और संरक्षण देने के बात सामने आई है जिसकी राज्य में भारतीय जनता युवा मोर्चा कड़ी निंदा करता है।
अमित ने कहा कि हमें तो लगता है कि स्वामी अग्निवेश का झारखंड दौरा विपक्षी पार्टियों की पहले से सुनियोजित साजिश थी। उन्होंने स्वामी अग्निवेश को देशद्रोही करार देते हुए कहा कि झारखंड की जनता समझदार है और वह किसी के बहकावे में आने वाली नहीं है। जनता झारखंड की रघुवर सरकार के विकास के साथ है।
उन्होंने कहा कि जब भी समाज, राष्ट्र और धर्म को तोड़ने वाली विघटनकारी शक्तियाँ सामने दिखेंगी भारतीय जनता युवा मोर्चा इसे नेस्तनाबूद करने का काम करेगा।
भाजयुमो के प्रदेश मीडिया प्रभारी संजय पोद्दार ने कहा कि यही स्वामी अग्निवेश हैं जिन्होंने अमरनाथ यात्रा के बारे में कहा था कि लोगों को अमरनाथ यात्रा पर नहीं जाना चाहिए क्योंकि वहां जो भगवान का शिवलिंग का रूप है वह एक वैज्ञानिक पद्धति से है इसलिए हिंदुओं को वहां पर नहीं जाना चाहिए।' उन्होंने कहा कि स्वामी अग्निवेश हमेशा से हिंदू समाज के विरोधी रहे हैं।
खूंटी में जाकर पत्थलगड़ी का समर्थन करने वाले और धर्म परिवर्तन को बढ़ावा देने वाले ऐसे गेरुआधारी सिर्फ समाज को बांटने का काम कर रहे हैं। ऐसे स्वामियों पर प्रतिबंध लगना चाहिए जो समाज को बांटने का काम करते हैं।
उन्होंने कहा कि आज सारे विपक्षी दल ऐसे व्यक्ति के साथ खड़े हैं जो पत्थलगड़ी का समर्थन करता है, हिंदू संस्कृति का विरोध करता है, हिंदू धर्म का विरोध करता है और धर्म परिवर्तन को जायज ठहराता है। इससे इन दलों का चरित्र उजागर होता है।
Next Story
Top