Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बस इतनी सी चूक की वजह से हुआ अनंतनाग में अमरनाथ यात्रियों पर हमला

महबूबा मुफ्ती ने कहा कि इस घटना से कश्मीर का सिर झुक गया है और दोषियों को छोड़ेंगे नहीं।

बस इतनी सी चूक की वजह से हुआ अनंतनाग में अमरनाथ यात्रियों पर हमला

कश्मीर में आतंकवादियों ने सोमवार को अनंतनाग जिले के बानटिंगू में दो अलग-अलग जगहों पर तीर्थयात्रियों और उनकी सुरक्षा में लगे पुलिस दल पर हमला किया। हमले में 7 अमरनाथ श्रद्धालुओं की मौत हुई है जबकि 25 लोग घायल हुए हैं।

इस हमले के सवाल ये उठ रहे हैं कि हमले की जिम्मेदारी कौन लेगा। इस बार अमरनाथ यात्रियों की सुरक्षा के लिए 80,000 सैनिकों को तैनात किया गया है लेकिन जानकारी के अनुसार जिस रास्ते पर यात्रियों को आतंकियों ने निशाना बनाया वहां से हमले के 50 मिनट पहले ही सुरक्षा हटाई गई थी जिसके बाद 8:20 पर आतंकियों ने बस को निशाना बनाया।

कैसे बनाया आतंकियों ने बस को निशाना
श्रद्धालुओं का काफिला शाम 4 बजे अमरनाथ यात्रा के लिए निकला था। शाम 7:30 बजे पेट्रोल पार्टा ने गश्त हटा ली थी और यात्रियों के लिए किसी प्रकार की कोई सुरक्षा नहीं थी।
उच्च सूत्रों के अनुसार यात्रियों से भरी बस गुजरात से श्रीनगर करीब 5 बजे बिना पुलिस सुरक्षा के आगे बढ़ी। बस में सवार यात्री श्रीनगर में घूमने लगे और काफिले से अलग हो गए।

श्राइन बोर्ड में रेजिस्टर्ड नहीं थी बस
प्राप्त जानकारी के मुताबिक यात्रियों से भरी बस श्राइन बोर्ड में रेजिस्टर्ड भी नहीं थी। गौरतलब है कि अमरनाथ हमले में 7 लोगों की मौत हो गई है। बस में कुल 54 लोग सवार थे। जिस बस पर हमला हुआ उसका नंबर GJ 09 Z 9976 है।
इस बस के ओनर ओम ट्रैवल्स हैं और ये गुजरात के वलसाड से निकली थी। आतंकी हमले में मरने वाले सभी श्रद्धालु गुजरात से हैं। केंद्रीय रिजर्व पुलिस बैंक ने बताया कि यह बस आधिकारिक काफिले का हिस्सा नहीं थी और उसने सभी तरह के सुरक्षा नियमों का उल्लंघन किया है।
हमले के बाद मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती घायलों से मिलने अस्पताल पहुंची। महबूबा मुफ्ती ने कहा कि इस घटना से कश्मीर का सिर झुक गया है और दोषियों को छोड़ेंगे नहीं।
सुरक्षा एजेंसियों ने बताया कि यात्री दो दिन पहले ही अमरनाथ यात्रा पूरी कर चुके थे। यह यात्री पिछले 24 घंटे से श्रीनगर और आसपास के क्षेत्रों में घूम रहे थे। पुलिस इस समय हमले की और जानकारी जुटा रही है।
Next Story
Top