Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जाकिर मूसा पर सुरक्षा एजेंसी की नजर

बुरहान वानी की मौत के बाद एक बड़े अलगाववादी नेता ने दावा किया था कि उनकी कुछ दिन पहले ही वानी से बात हुई थी।

जाकिर मूसा पर सुरक्षा एजेंसी की नजर

कश्मीर में आतंकी बुरहान वानी के उत्तराधिकारी जाकिर मूसा के हिजबुल मुजाहिदीन से अलग होने के बाद सुरक्षा एजेंसियां सतर्क हो गई हैं। एजेंसिंयों जाकिर मूसा पर पैनी नजर रख रही हैं।

सुरक्षा एजेंसियों का मानना है कि पहली बार घाटी में अलगाववादियों और आतंकवादियों के बीच आंदोलन के इस्लामी या राजनीतिक होने पर जंग छिड़ी है और इसका घाटी के हालात पर दूरगामी असर हो सकता है।

उन्हें लगता है कि यह तकरार आगे बढ़ भी सकती है। अलगाववादियों और आतंकवादियों के बीच खटास वानी के मारे जाने के पहले से भी सामने आ रही थी।

दोनों पक्षों में बातचीत बंद थी, लेकिन वानी की मौत के बाद एक बड़े अलगाववादी नेता ने दावा किया था कि उनकी कुछ दिन पहले ही वानी से बात हुई थी। वानी के मारे जाने से इसकी पुष्टि मुमकिन नहीं थी।

आपको बता दें कि आतंकी बुरहनवानी के सुरक्षाबलों के साथ एनकाउंटर में मारे जाने के बाद घाटी में अशांति फैली है। बुरहन वानी की मौत के बाद से लेकर अब तक पत्थरबाजी की घटनाएं हो रही है।

घाटी में फैली अशांति से अब तक कई लोगो की जान जा चुकी है। घाटी में इस अशांति के दौरान कई स्कूल और कॉलेज भी बंद रहे है। कई स्कूलों को आग के हवाले कर दिया गया है।

इस घटना के बाद कई छात्रों ने भी पत्थरबाजी की घटनाओं में हिस्सा लिया है और इतना ही नहीं अब तो कुछ स्कूल की लड़किया भी पत्थरबाजी में शामिल होने लगी है।

Next Story
Top