Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हताश आतंकियों ने 4 घंटे में ग्रेनेड से किए ताबड़तोड़ 7 हमले

आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन ने ग्रेनेड हमलों की जिम्मेदारी लेते हुए सुरक्षाबलों पर और हमलों की धमकी दी है।

हताश आतंकियों ने 4 घंटे में ग्रेनेड से किए ताबड़तोड़ 7 हमले

अपने साथियों के मारे जाने से हताश आतंकियों ने मंगलवार को चार घंटे के भीतर कश्मीर में एक के बाद एक ताबड़तोड़ करीब सात हमले किए।

आतंकियों ने हर जगह सुरक्षाबलों को निशाना बनाकर हमला किया, इन सीरियल हमलों में सीआरपीएफ के नौ व चार पुलिसकर्मियों सहित 13 जवान घायल हो गए।

इन हमलों के बाद सुरक्षा एजेंसियां पूरी तरह एक्शन में आ गई है। उन्होंने पूरी वादी में अलर्ट जारी करते हुए सभी सुरक्षा शिविरों व पुलिस थानों के अलावा जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग अनंतनाग-श्रीनगर सेक्शन पर सुरक्षा कड़ी कर दी है।

आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन ने ग्रेनेड हमलों की जिम्मेदारी लेते हुए सुरक्षाबलों पर और हमलों की धमकी दी है।

इसे भी पढ़ें- आर्मी की मदद से जम्मू-कश्मीर के 9 नौजवान बनेंगे इंजीनियर

इससे पहले सोमवार रात भी त्राल में आतंकियों ने सीआरपीएफ के शिविर पर ग्रेनेड दागा था, जिसमें दो जवान जख्मी हो गए थे।

कुछ इस तरह हुई चार घंटे में लगातार सात आंतकी हमलें

पहला हमला : शाम 6:00 बजे

सीआरपीएफ की 180वीं वाहिनी की एफ कंपनी के शिविर पर ग्रेनेड दागा, जिसमें नौ जवान जख्मी हो गए।

दूसरा हमला : 8:00 बजे

सीआरपीएफ की 130वीं वाहिनी के शिविर पर ग्रेनेड हमला किया, जिसमें कोई नुकसान नहीं हुआ।

तीसरा हमला : 8 बजकर 30 मिनट

पुलवामा पुलिस स्टेशन पर ग्रेनेड दागा, जो थाने की बाहरी दीवार के साथ टकराकर फटा। इस हमले में दो पुलिसकर्मी घायल हो गए।

चौथा हमला : 9:00 बजे

सीआरपीएफ के शिविर पर ग्रेनेड हमला किया। इस हमले में कोई नुकसान नहीं हुआ।

पांचवां हमला : 9 बजकर 15 मिनट

जम्मू-कश्मीर उच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश मुजफ्फर हुसैन अत्तर के मकान पर तैनात सुरक्षाकर्मियों पर हमला किया। इसमें दो पुलिसकर्मी घायल हो गए।

छठा हमला : 9 बजकर 30 मिनट

सेना की 22 आरआर के शिविर पर स्वचालित हथियारों से फायरिंग की।

सातवां हमला : 10:00 बजे

सेना की 42 आरआर के शिविर पर यूबीएल से ग्रेनेड हमला किया, लेकिन कोई नुकसान नहीं हुआ।

Next Story
Top