Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सेना से डरे आतंकी, कोई नहीं बनना चाहता है लश्कर ए तैयबा का कमांडो

जब कमांडो मारा जाता है तो आतंकी संगठन अपने-आप कमजोर पड़ जाता है।

सेना से डरे आतंकी, कोई नहीं बनना चाहता है लश्कर ए तैयबा का कमांडो

लश्कर-ए-तैयबा ने कश्मीर में एक नई योजना अपना ली है। लश्कर में एक ऐसी वैकेंसी है जिसपर कोई आतंकी भर्ती नहीं होना चाहता और वो है लश्कर प्रमुख की। हालांकि बताया जा रहा था की अबु इस्माइल के सुरक्षाबलों द्वारा मारे जाने के बाद जीनत-उल-इस्लाम लश्कर का प्रमुख बनेगा।

जम्मू कश्मीर के पुलिस प्रमुख डॉ एसपी वैद ने कहा कि कोई आतंकी प्रमुख नहीं बनना चाहता है। उन्होंने कहा कि मैनें सुना है कि अभी तक कोई आतंकी लश्कर प्रमुख नहीं बना है। उन्होंने कहा कि लश्कर प्रमुख की घोषणा न करने का एक कारण ये भी हो सकता है कि उनके एक ही साल में 3 प्रमुख मारे गए हैं। ये आतंकियों की योजना हो सकती है।
वैद ने कहा कि लश्कर को लगता है कि सुरक्षाबल सबसे पहले बड़े आतंकियों को टार्गेट करते हैं। इसलिए लश्कर के कमांडो मारे जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि जब कमांडो मारा जाता है तो आतंकी संगठन अपने-आप कमजोर पड़ जाता है।
उन्होंने कहा कि जबतक कोई आधिकारिक घोषणा नहीं होती हम यही मानेंगे कि इस्माइल ही लश्कर का कमांडो है। गौरतलब है कि इससे पहले लश्कर के कमांडो रहे अबु दुजाना और अबु इस्माइल को सुरक्षा बलों ने मार गिराया था।
Next Story
Top