Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

J&K: लश्कर कमांडर जुनैद मट्टू के जनाजे में आतंकियों ने की हवाई फायरिंग

मट्टू शुक्रवार को सुरक्षा बलों के साथ हुई मुठभेड़ में मारा गया था।

J&K: लश्कर कमांडर जुनैद मट्टू के जनाजे में आतंकियों ने की हवाई फायरिंग

सेना की मोस्ट वॉन्टेड लिस्ट में शामिल रहे लश्कर-ए-तैयबा के कमांडर जुनैद मट्टू के अंतिम संस्कार के दौरान शनिवार को दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले में कई हथियारबंद आतंकवादियों ने बंदूक की गोलियां दागीं। जुनैद के अंतिम संस्कार में सैकड़ों लोग शामिल हुए।

मट्टू अपने दो सहयोगियों के साथ जिले के अरवनी गांव में शुक्रवार को सुरक्षा बलों के साथ हुई मुठभेड़ में मारा गया था। उसे खुदवानी गांव में दफनाया गया। आतंकवादियों के जनाजे में उनके साथियों के हथियार लहराने और हवाई फायरिंग का ट्रेंड पिछले साल हिजबुल कमांडर बुरहान वानी के जनाजे से शुरू हुआ। सुरक्षा बलों ने आतंकियों के पोस्टर बॉय बुरहान वानी को एक मुठभेड़ में ढेर किया था।

घाटी के बड़े पैमाने पर जुटे लोग

जुनैद मट्टू को दफनाए जाने से पहले लोगों ने अंतिम संस्कार की रस्म के तौर पर 4 बार नमाज पढ़ी। यह भी बताया गया कि उसके अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए आसपास के इलाकों और यहां तक कि दक्षिण कश्मीर के अन्य इलाकों से भी लोग आए थे।

सुरक्षा बलों ने किसी प्रकार की हिंसा से बचने के लिए लोगों को अंतिम संस्कार में शामिल होने की इजाजत दी थी। पुलिस ने बताया कि कुख्यात आतंकवादी जुनैद लश्कर का जिला कमांडर था और वह कई आतंकवादी गतिविधियों में शामिल था।

12 मोस्ट वांटेड आतंकी में से एक था मट्टू

जुनैद मट्टू गुरुवार को कुलगाम के बोगंद क्षेत्र में एक पुलिस कॉन्स्टेबल की हत्या में भी शामिल था। इसके अलावा पिछले साल अनंतनाग में एक बसअड्डे के पास एक असिस्टेंट सब-इंस्पेक्टर और एक कॉन्स्टेबल की हत्या में भी उसका हाथ था। वह आर्मी की 12 मोस्ट वॉन्टेड आतंकियों की लिस्ट में भी शामिल था।

उस पर 10 लाख रुपये का इनाम भी रखा गया था। मट्टू के साथ नासिर और आदिल नाम के 2 और आतंकियों को भी पुलिस ने मार गिराया। ये दोनों आतंकी पिछले साल लश्कर-ए-तैयबा में शामिल हुए थे। मुठभेड़ की जगह से हथियार, गोला बारूद और ग्रेनेड बरामद हुए हैं।

पत्थरबाजों के पीछे से चलाई थी गोली

आतंकवादियों के ठिकाने का घेराव करते वक्त स्थानीय लोगों ने सुरक्षा बलों पर पथराव शुरू कर दिया। इस दौरान गोलीबारी में 2 लोग मारे गए। प्रवक्ता ने कहा, 'कुछ आतंकवादियों ने भीड़ के बीच से सुरक्षाबलों पर अंधाधुंध गोलीबारी भी की।' काबिले गौर है कि आतंकवादियों से मुठभेड़ की जगहों पर पत्थरबाजों के इकट्ठा होने और सुरक्षा बलों के ऑपरेशन में बाधा पहुंचाने का ट्रेंड भी बुरहान वानी की मौत के बाद शुरू हुआ है।

Next Story
Top