Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सरकार ने नष्ट किया डीएसपी अयूब की हत्या का सबूत, तोड़े गए थे हाथ-पैर

डीएसपी की हत्या का वीडियो बहुत ही हिंसक था।

सरकार ने नष्ट किया डीएसपी अयूब की हत्या का सबूत, तोड़े गए थे हाथ-पैर

जम्मू-कश्मीर में डीएसपी मोहम्मद अयूब पंडित की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी और ये मामला काफी सुर्ख़ियों में भी रहा। अब इसमें कुछ अहम जानकारियां सामने आई हैं।

जम्मू कश्मीर के कुछ वरिष्ठ अधिकारी ने हिंदुस्तान टाइम्स को जानकारी दी कि डीएसपी की हत्या का वीडियो बहुत ही हिंसक था। इसलिए राज्य सरकार ने सार्वजनिक तनाव फैलने के डर से इसे खरीद कर नष्ट कर दिया।

उल्लेखनीय है कि 23 जून शब-ए-कदर के दौरान रात में जब हजारों लोग मस्जिद में एकत्र हुए थे उसी दिन 57 साल के पुलिस अधिकारी मोहम्मद अयूब पंडित का मृत शरीर श्रीनगर की मुख्य मस्जिद के बाहर पड़ा मिला था।

जानकारी के मुताबिक डीएसपी मोहम्मद अयूब हुर्रियत कॉन्फ्रेंस के नेता मीरवाइज उमर फारुख की सुरक्षा में मस्जिद के बाहर तैनात थे।

वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, 'डीएसपी को नग्न कर दिया गया था और बुरी तरह से हिंसक तरीके के साथ उनके साथ मारपीट की गई थी। उनके हाथ और पैरों को मोड़ दिया और इस तरह से तोड़ गया था, जैसे गन्ने को तोड़ा जाता है।'

जिस अधिकारी ने अयूब पंडित की हत्या का यह सनसनीखेज वीडियो देखा है उसने बताया कि इसके सोर्स और वीडियो को नष्ट करने के लिए राज्य सरकार ने घूस दी।

अधिकारी ने अपना नाम न प्रकाशित करने की शर्त पर बताया कि इस वीडियो को किसी नागरिक ने शूट किया था, जो घाटी में कई एजेंसियों के लिए इनफॉर्मर का काम करता है।

डीएसपी मोहम्मद अयूब पंडित की पोस्टमॉर्ट्म रिपोर्ट के अनुसार उनके शव पर मिले निशान से उनके साथ हुई हिंसा की पुष्टि होती है। पोस्टमॉर्ट्म रिपोर्ट में उनके सिर पर चोट के निशान थे, जिस वजह से उनके महत्वपूर्ण अंग बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गए थे और उनकी मौत हो गई थी।

रिपोर्ट के अनुसार डीएसपी पंडित के सिर पर कई गंभीर घाव, कई अंदरुनी चोंटे और कंधे के निकट खरोंच के कई निशान पाए गए थे।

इस मामले में डीजीपी एसपी वैद ने बताया, 'हमने इस मामले में 12 लोगों की पहचान की है और उनमें से पांच लोग अब तक गिरफ्तार किए जा चुके हैं।'

Next Story
Top