Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पाक ने भारतीय चौकियों पर बरसाई गोलियां, बीते 36 घंटे में छठी बार तोड़ा सीजफायर

पाक रेंजर्स लगातार घुसपैठ कराने के चक्कर में फायरिंग कर रहे हैं।

पाक ने भारतीय चौकियों पर बरसाई गोलियां, बीते 36 घंटे में छठी बार तोड़ा सीजफायर
X

पाकिस्तान ने एक बार फिर सीमा पर सीजफायर का उल्लंघन किया है। सोमवार सुबह 6.20 बजे एलओसी के कृष्णा घाटी सेक्टर पर बने भारतीय चौकियों पर गोलियां बरसाईं। पाक ने पिछले 36 घंटे में छठी बार सीजफायर का उल्लंघन किया है। भारतीय सेना भी पाक इस कार्रवाई का मुंहतोड़ जवाब दे रही है।

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, पाकिस्तानी सेना ने छोटे और ऑटोमैटिक हथियारों के अलावा भारी मोर्टार से भी हमला किया। इस घटना में ज्यादा जानकारी का इंतजार है।

इससे पहले 11 जून को जम्मू कश्मीर में पाकिस्तान ने दो बार सीजफायर का उल्लंघन किया गया था। पाकिस्तान ने बिंबर गली सेक्टर और रामगढ़ (संभा) सेक्टर में सीजफायर का उल्लंघन किया था।

बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स (बीएसएफ) के मुताबिक, पाकिस्तानी सेना 50 मिनट से ज्यादा समय से गोलियां चला रही थी। भारतीय सेना ने शनिवार को यह भी दावा किया था कि बीते 96 घंटों में उन्होंने 13 घुसपैठियों को मार गिराया है।

सेना के अधिकारियों ने बताया था कि इन घुसपैठियों में एलओसी के पास मार गिराया गया है। गौरतलब है किकुछ दिनों से लगातार सेना जम्मू-कश्मीर में आतंकियों-घुसपैठियों से लोहा ले रही है।

शुक्रवार (9 जून) को सेना और मिलिटेंट्स के बीच हुई मुठभेड़ में सेना ने 6 मिलिटेंट्स को मार गिराया था। यह मुठभेड़ उड़ी सेक्टर में हुई थी।

10 जून को कश्मीर के गुरेज सेक्टर में भी सेना ने घुसपैठ की कोशिश नाकाम को नाकाम कर दिया था। सेना ने बांदीपुरा जिले में नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर घुसपैठ की कोशिश नाकाम करते हुए एक आतंकवादी को मार गिराया था।

रक्षा सूत्रों ने बताया कि सेना ने गुरेज सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर उस समय एक आतंकी को मार गिराया जब तीन-चार आतंकवादी भारतीय सीमा में घुसपैठ की कोशिश कर रहे थे। सेना ने जहां एक तरफ घुसपैठ की कोशिशों को नाकाम किया वहीं दूसरी तरफ उसने पाकिस्तान द्वारा संघर्षविराम का उल्लंघन किए जाने का भी मुंह तोड़ जवाब दिया।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

और पढ़ें
Next Story