Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

91 साल में पहली बार J&K में होगी RSS की मीटिंग

RSS अलगाववादी ताकतों को ये मैसेज देने की कोशिश कर रहा है कि कश्मीर देश का अटूट हिस्सा है और इस पर कोई समझौता नहीं किया जाएगा।

91 साल में पहली बार J&K में होगी RSS की  मीटिंग

1925 में बना राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ पहली बार जम्मू-कश्मीर में वार्षिक सभा करेगा। संघ के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख मनमोहन भागवत ने इसकी पुष्टि की है। 18 से 20 जुलाई तक चलने वाली इस बैठक में संघ प्रमुख मोहन भागवत और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह भी शामिल होंगे।

न्यूज एजेंसी के मुताबिक, कश्मीर में पत्थरबाजी और सिक्युरिटी फोर्सेस पर हमले किए गए हैं। अलगाववादी ताकतें देश विरोधी ताकतों को बढ़ावा दे रही हैं। RSS अलगाववादी ताकतों को ये मैसेज देने की कोशिश कर रहा है कि कश्मीर देश का अटूट हिस्सा है और इस पर कोई समझौता नहीं किया जाएगा।

18 से 20 जुलाई तक होने वाली इस मीटिंग में मोहन भागवत और बीजेपी नेशनल प्रेसिडेंट अमित शाह के अलावा विश्व हिंदू परिषद के कई बड़े नेता शामिल होंगे।

अलगाववादियों तक मैसेज पहुंचाना मकसद

न्यूज एजेंसी ने संघ के सूत्रों के हवाले से बताया-घाटी के बिगड़ते हालात के लिए जिम्मेदार अलगाववादियों को ये मैसेज दिया जाना जरूरी है कि कश्मीर भी इस देश का अटूट हिस्सा है और संघ देश की एकता के कसर बाकी नही रखेगा।

Next Story
Top