Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जम्मू कश्मीर: सेना ने की घुसपैठ की कोशिश नाकाम, 6 आतंकी ढेर-5 के शव बरामद

जम्मू कश्मीर के उरी सेक्टर में भारतीय सेना और जम्मू कश्मीर पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है, सेना और पुलिस के एक साझा ऑपरेशन के दौरान जैश के 6 आतंकियों को मार गिराया है।

जम्मू कश्मीर: सेना ने की घुसपैठ की कोशिश नाकाम, 6 आतंकी ढेर-5 के शव बरामद
X

जम्मू कश्मीर के उरी सेक्टर में भारतीय सेना और जम्मू कश्मीर पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है, सेना और पुलिस के एक साझा ऑपरेशन के दौरान आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के 6 आतंकियों को मार गिराया, जिनमे से सेना ने 5 आतंकियों के शव को बरामद कर लिया है।

सेना ने अभी भी इलाके को चरों तरफ से घेर रखा है और सर्च ऑपरेशन चलाया हुआ है। सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि खुफिया सूत्रों से मिली जानकारी के बाद सर्च ऑपरेशन चलाया गया था।

रक्षा प्रवक्ता ने बताया कि पांच आतंकवादी मारे गए हैं। पुलिस महानिदेशक एस पी वैद ने पहले बताया था कि उरी सेक्टर के दुलांजा इलाके में सेना, पुलिस और अन्य सुरक्षा बलों के एक संयुक्त अभियान में जैश-ए-मोहम्मद के चार आतंकवादी मारे गए हैं।

वैद ने एक ट्वीट में कहा कि जैश-ए-मोहम्मद के तीन आत्मघाती आतंकवादी उरी सेक्टर के दुलांजा इलाके में घुसपैठ की साजिश के दौरान जम्मू-कश्मीर पुलिस/ सेना/ सीएपीएफ के एक संयुक्त अभियान में मारे गए। चौथे आतंकवादी की तलाश जारी है। डीजीपी ने हालांकि बाद में चौथे आतंकवादी के भी मारे जाने की पुष्टि कर दी थी।

इसे भी पढ़ें: सावधान! अगर शरीर में दिख रहे हैं ये संकेत तो हो सकता है एड्स

आपको बता दें कि जम्मू-कश्मीर में सेना ने साल 2017 में 200 आतंकियों को मार कर ‘गोल्डन ईयर’ बना लिया है। अगर बीते 6 सालों की बात करें तो इतनी बड़ी संख्या में इससे पहले कभी भी आतंकियों को नहीं मारा गया है।

वहीं अगर आंकड़ों के हिसाब से वर्ष 2011 से 2017 तक सुरक्षाबलों ने कुल 575 आतंकी मार गिराए हैं। इनमें सबसे ज्यादा 200 आतंकियों का इस वर्ष 2017 सफाया किया गया है।

इसे भी पढ़ें: IPL-2018 नीलामी: इन दिग्गज क्रिकेटरों पर 'टूट पड़ेंगी' टीमें, देखें तस्वीरें

इसके अलावा साल 2011 में यह संख्या 95, 2012 में 73, 2013 में 65, 2014 में 104, 2015 में 97 और 2016 में 141 आतंकवादी ढेर किए जा चुके हैं।

रक्षा मंत्रालय के सूत्रों ने कहा कि अगर इसी तर्ज पर कश्मीर घाटी में सैन्य अभियान चलते रहे तो अगले साल 2018 में भी पाक समर्थित यह तमाम दहशतगर्द सूबे की शांति भंग नहीं कर सकेंगे।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story