Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मुठभेड़ में मारा गया खूंखार आतंकी शौकत अहमद मीर, सेना और आम जनता पर करता था हमले

रविवार को सुरक्षाबलों ने जम्मू-कश्मीर के शोपियां जिले में चार आतंकियों को ढेर किया। इनमें से एक आतंकी शौक अहमद मीर भी था जिसकी सुरक्षा बलों को लंबे समय से तलाश थी। शौकत अहमद मीर का अपराध का काफी गंभीर ट्रैक रिकॉर्ड था। पुलिस के सूत्रों की मानें तो शौकत अहमद मीर घाटी का छंटा हुआ आतंकी था।

जिस खूंखार आतंकी की सुरक्षाबलों को थी लंबे समय से तलाश, मुठभेड़ में मारा गयाTerrorist Shoukat Ahmed killed in encounter.

रविवार को सुरक्षाबलों ने जम्मू-कश्मीर के शोपियां जिले में चार आतंकियों को ढेर किया। इनमें से एक आतंकी शौक अहमद मीर भी था जिसकी सुरक्षा बलों को लंबे समय से तलाश थी। शौकत अहमद मीर का अपराध का काफी गंभीर ट्रैक रिकॉर्ड था। पुलिस के सूत्रों की मानें तो शौकत अहमद मीर घाटी का छंटा हुआ आतंकी था।

पुलिस के एक शीर्ष सूत्र के मुताबिक शोपियां जिले के पंजार इलाके में खास खुफिया सूचना के आधार पर चारों ओर से घेरकर तलाशी अभियान चला गया। इसमें पुलिस और सुरक्षा बल दोनों शामिल रहे।

उन्होंने बताया कि इस दौरान आतंकियों ने टीम पर फायरिंग शुरू कर दी इसके बाद मुठभेड़ शुरु हुई। पुलिस और सेना की कार्रवाई में चार आतंकी मारे गए जिनके शव मुठभेड़ स्थल से बरामद किए गए हैं।

सुरक्षा बलों ने जिन आतंकियों को ढेर किया उनमें रफी हसन मीर करालचक शोपियां का रहने वाला है। जबकि सुहेल अहमद भट (बटमुरान, शोपियां), आजाद अहमद आकंडे (बमनू, पुलवामा), शौकत अहमद मीर (राजपुरा, पुलवामा) के रहने वाले हैं।

पुलिस सूत्रों की मानें तो जिन चार आतंकियों को मारा गया है उनमें शौकत का सबसे खतरनाक आपराधिक रिकॉर्ड है। वह 2015 से आतंकी गतिविधियों में शामिल रहा। शुरू में वह हिज्बुल मुजाहिद्दीन में रहा लेकिन बाद में गजवातुल हिंद में जुड़ गया।

पुलिस रिकॉर्ड के मुताबिक सैन्य प्रतिष्ठानों के साथ-साथ आम लोगों पर हमले के लिए भी शौकत मीर की तलाश थी। उसके खिलाफ आतंकी मामलों में कई एफआईआर दर्ज हैं। शिखार्ड में गार्ड पोस्ट पर फायरिंग, सैन्य बलों पर ग्रेनेड हमला, बशीर अहमद डार और अल्ताफ अहमद पर गोलीबारी और पुलिसकर्मी समीर अहमद की हत्या जैसे संगीन अपराध उसके खाते में दर्ज हैं। शौकत मीर ने ही आजाद अहमद, रफी हसन और सुहेल अहमद को आतंकी बनने के लिए उकसाया था।

सुरक्षाबलों की ओर से चलाए गए ऑपरेशन के दौरान किसी आम नागरिक को कोई नुकसान नहीं हुआ। मुठभेड़ वाली जगह से भारी मात्रा में बारूद और हथियार बरामद किए गए। पुलिस बरामद चीजों की जांच कर रही है। यह पूरा अभियान बाग वाले इलाके पर केंद्रित था। फिलहाल शोपियां जिला प्रशासन ने इंटरनेट सेवाओं को बंद किया है।

Next Story
Top