Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कश्मीर को सीरिया, यमन, पाक नहीं बनने देंगे, दिनेश्वर शर्मा

केंद्र सरकार की ओर से नवनियुक्त वार्ताकार दिनेश्वर शर्मा ने कशमीर के मौजूदा हालात पर चिंता जताई है।

कश्मीर को सीरिया, यमन, पाक नहीं बनने देंगे, दिनेश्वर शर्मा

जम्मू-कश्मीर में विभिन्न दलों और गुटों से बातचीत के लिए केंद्र सरकार की ओर से नवनियुक्त वार्ताकार दिनेश्वर शर्मा ने कशमीर के मौजूदा हालात पर चिंता जताई है और कहा कि जम्मू-कश्मीर के युवा वर्ग को आंतवादियों के चुंगल में जाने से रोकना हमारी पहली जिम्मेदारी है।

उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर को सीरिया की तर्ज पर न जानें देने से ही भारत की सुरक्षा में पारदर्शिता लाई जा सकती है। लेकिन ये आसान तो नहीं,मगर जम्मू-कश्मीर में पनप रहे अतिवाद से निपटना होगा।

इसे भी पढें- जम्मू कश्मीर: मुफ्ती सरकार ने पास किया अध्यादेश, प्रदर्शन में शामिल होने पर जाना होगा इतने साल की जेल

उन्होंने कहा, कि एक रिक्शा चालक और ठेला चालक भी, जो राज्य में शांति स्थापित करने में अपना योगदान दे सकते हैं। उन्हें बातचीत में शामिल करना है उन्हें व्यक्तिगत तौर पर यह देखकर काफी दुख होता है कि कश्मीरी युवाओं ने जो राह चुनी है, वो समाज को बर्बाद कर सकती है और भारत के कश्मीर को भविष्य के लिए काफी खतरनाक मोड़ पर ले जाकर खड़ा कर सकती है।

खुफिया ब्यूरो (IB) की दो वर्षो तक कमान संभाल चुके दिनेश्वर शर्मा ने IANS को दिए साक्षात्कार में गुमराह युवकों के आतंकी कमांडर बनने की ओर इशारा करते हुए कहा, कि मैं कश्मीर के लोगों के दर्द को महसूस करता हूं जिन आंतकी आंकाओं ने कश्मीर में आंतकवाद को बढावा दिया हैं उनको बिल्कुल नहीं वकसा जाएं।

इसे भी पढें- घाटी में वार्ताकार की नियुक्ति से हमारे आर्मी ऑपरेशन प्रभावित नहीं होंगे: जनरल रावत

उन्होंने कहा, कि खलीफा (इस्लाम को स्थापित करने) की बात करने के चलते कश्मीर में अलकायदा प्रमुख जाकिर मुसा और हिजबुल मुजाहिदीन कमांडर बुरहान वानी को ज्यादा तवज्जो मिली है। कश्मीर के युवा जिस तरफ बढ़ रहे हैं, वो अतिवाद है और यह पूरी तरह से कश्मीरी समाज को तबाह कर देगा।

शर्मा ने कहा कि मुझे कश्मीर के लोगों की चिंता है। अगर यह चलता रहा, तो यहां के हालात यमन, सीरिया और लीबिया जैसे हो जाएंगे। कई समूह आपस में लड़ना शुरू कर देंगे। लिहाजा यह अहम है, कि हम सभी इस वार्ता में सहयोग करें, ताकि कश्मीरियों की परेशानी कम हो सकें।

Next Story
Top