Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पैलेट गन पर SC ने कहा, पहले पत्थरबाजी रुके

केंद्र ने पैलेट गन के विकल्प के तौर पर बदबूदार पानी, लेज़र डेज़लर और तेज़ आवाज़ करने वाली मशीनों का भी इस्तेमाल किया था।

पैलेट गन पर SC ने कहा, पहले पत्थरबाजी रुके

घाटी में पत्थरबाजों और प्रदर्शनकारियों पर पेलेट गन का इस्तेमाल नहीं करने वाली याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने एक बड़ा बयान दिया है।

पेलेट गन का इस्तेमाल नहीं करने वाली याचिका पर कोर्ट ने कहा हैं कि हम केंद्र सरकार को पैलेट गन का इस्तेमाल रोकने के लिए कहने के लिए तैयार हैं, लेकिन क्या आप (याचिकाकर्ता) कोर्ट और देश को यह भरोसा दे सकते हैं कि घाटी में अब पत्थरबाजी नहीं होगी?

आपको बता दें कि घाटी में पेलेट गन के इस्तेमाल पर रोक लगाने के लिए जम्मू-कश्मीर हाईकोर्ट बार एसोसिएशन ने सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दायर की थी।

अपनी याचिका में बार एसोसिएशन ने घटी में लोगो पर पेलेट गन का इस्तेमाल नहीं करने की मांग की थी। सुप्रीम कोर्ट ने जम्मू-कश्मीर हाईकोर्ट बार एसोसिएशन से घाटी के हालत सुधरने के लिए सुझाव देने के लिए कहा है।

हालांकि केंद्र सरकार ने अपने एक बयान में कहा है कि सरकार इस मुड़े पर सिर्फ मान्य पार्टियों से बात करेगी। सरकार ने किसी भी अलगाववादी संगठन से बात करने से साफ़ इंकार कर दिया है।

आपको बता दें कि केंद्र सरकार ने कोर्ट में कहा था कि प्रदर्शनकारियों से निपटने के लिए पेलेट गन अंतिम विकल के तौर पर इस्तेमाल किया जाएगा।

पैलेट गन के विकल्प के तौर पर बदबूदार पानी, लेज़र डेज़लर और तेज़ आवाज़ करने वाली मशीनों का इस्तेमाल करने पर भी विचार किया गया था लेकिन सरकार ने कहा कि इनका कोई खास असर नहीं होता है।

जम्मू-कश्मीर हाईकोर्ट बार एसोसिएशन की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में अगली सुनवाई 9 मई को होगी।

Next Story
Top