Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पथराव करती भीड़ पर फायरिंग में 7 नागरिक मारे गए, एक जवान शहीद, दो घायल

दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले में शनिवार को एक मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने तीन आतंकियों को मार गिराया।

पथराव करती भीड़ पर फायरिंग में 7 नागरिक मारे गए, एक जवान शहीद, दो घायल
X

दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले में शनिवार को एक मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने तीन आतंकियों को मार गिराया। इस मुठभेड़ में मारे गए आतंकियों में जहूर अहमद ठोकर भी है, जो पिछले वर्ष जुलाई में सेना के कैंप से फरार होकर आतंकी संगठन में शामिल हो गया था।

बताया जा रहा है कि स्थानीय निवासी ठोकर के मुठभेड़ में घिरे होने की जानकारी मिलने के कारण ही वहां के लोग उग्र हो गए और सेना पर पथराव शुरू कर दिया। इसके बाद सुरक्षाबलों को कथित तौर पर उन पर फायरिंग करनी पड़ी।इस दौरान सुरक्षाबलों की कथित गोलीबारी में सात नागरिक भी मारे गए।
वहीं सेना का एक जवान भी शहीद हो गया। तीन आतंकवादियों के मारे जाने के साथ ही मुठभेड़ 25 मिनट में खत्म हो गई।
पहले हवा में गोलियां चलाईं
पुलिस अधिकारियों ने बताया कि यह घटना सुबह सिर्नू गांव में हुई। उन्होंने बताया कि लोगों को चेतावनी देने के लिए हवा में गोलियां भी चलाई गईं लेकिन उससे भी उग्र भीड़ रुकी नहीं जिससे सुरक्षाबलों को उन पर गोलियां चलानी पड़ी।
घटना में सात नागरिकों की मौत हो गई और कई अन्य घायल हो गए जिनमें एक युवक की हालत गंभीर बताई जा रही है।
मोबाइल इंटरनेट सेवाएं सस्पेंड
इस झड़प के बाद से इलाके में हालात तनावपूर्ण हैं और पुलवामा में मोबाइल इंटरनेट सेवाओं को सस्पेंड किया गया है। इसके साथ ही जम्मू इलाके में बनिहाल टाउन से कश्मीर घाटी के लिए रेल सेवाओं को भी रद्द कर दिया गया है।
जहूर बचाने को स्थानीय नागरिक सड़कों पर उतरे
अधिकारियों के मुताबिक सुरक्षाबलों ने सेना से भागे हुए जहूर अहमद ठोकर समेत तीन आतंकवादियों की मौजूदगी की खुफिया रिपोर्टों के आधार पर इलाके की घेराबंदी कर सर्च ऑपरेशन शुरू किया था।
उन्होंने बताया कि जैसे ही ठोकर के मुठभेड़ में फंसे होने के बारे में खबरें फैलीं, लोगों ने मुठभेड़ स्थल पर जुटना शुरू कर दिया। ठोकर इसी गांव का था। पर, सुरक्षाबल तब मुश्किल में पड़ गए जब लोगों ने सेना के वाहनों पर चढ़ना शुरू कर दिया।
औरंगजेब की हत्या में शामिल था जहूर
बताया जा रहा है कि राष्ट्रीय राइफल्स के जवान औरंगजेब की हत्या में भी जहूर का नाम सामने आया था। सुरक्षाबलों ने कहा कि ठोकर पुलवामा जिले में कई हत्याओं में शामिल था। ऐसे में इसे सुरक्षाबलों के लिए बड़ी सफलता के रूप में देखा जा रहा है।
सेना की शाखा से लापता होते वक्त वह अपनी सर्विस राइफल और तीन मैगजीन के साथ फरार हो गया था। इसके बाद वह आतंकवादी संगठन में शामिल हो गया था।

दो जवानों की हालत गंभीर
अधिकारियों ने बताया कि मुठभेड़ में सेना का एक जवान भी शहीद हो गया जबकि दो अन्य जवानों की हालत गंभीर है। घायल जवानों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। ठोकेर के अलावा मुठभेड़ में मारे गए दो अन्य आतंकवादियों की पहचान की जा रही है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story