Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जम्मू-कश्मीर: अमरनाथ यात्रियों के लिए सुरक्षा चाकचौबंद, 40 हजार जवान तैनात

अमरनाथ यात्रियों को चाकचौबंद सुरक्षा देने के लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय ने जम्मू-कश्मीर की राज्यपाल सरकार के साथ मिलकर व्यापक इंतजाम किए हैं।

जम्मू-कश्मीर: अमरनाथ यात्रियों के लिए सुरक्षा चाकचौबंद, 40 हजार जवान तैनात

अमरनाथ यात्रियों को चाकचौबंद सुरक्षा देने के लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय ने जम्मू-कश्मीर की राज्यपाल सरकार के साथ मिलकर व्यापक इंतजाम किए हैं।

पहली बार सीआरपीएफ के जवान पूरे यात्रा मार्ग पर बेहद आधुनिक तकनीकी से बनी मोटरसाइकिल के मार्फत भक्तजनों के सुरक्षित यात्रा का बंदोबस्त करने में जुटे हैं।

आगामी 28 जून से शुरू हो रही अमरनाथ यात्रा 60 दिनों तक चलेगी। उल्लेखनीय है कि यात्रा के दौरान उग्रवादी हमले की आशंका जताई जा रही है जिससे सुरक्षा को हर कसौटी पर कसा जा रहा है।

सीआरपीएफ जवानों को समूचे यात्रा मार्ग पर चौकस निगहबानी के लिए दी गई मोटरसाइकिल जरूरत पड़ने पर एंबुलेंस के रूप में बदली जा सकती है।

किसी यात्री को किसी तरह कोई मेडिकल परेशानी हुई तो उसे तुरंत पास के अस्पताल में पहुंचाने में जवान और उनकी मोटरसाइकिल त्वरित गति से काम करेगी।

जो भी यात्री अमरनाथ यात्रा में वाहनों का इस्तेमाल करेंगे सभी को खास किस्म की रेडियो-फ्रीक्वेंसी-टैग इशू की जाएगी। जिससे वाहनों की आवाजाही, उनके लोकेशन की हर छोटी-बड़ी जानकारी से कंट्रोल रूम में मॉनिटरिंग में जुटे सुरक्षाकर्मी बावस्ता रह सकें।

इसे भी पढ़ें- जम्मू-कश्मीर: आतंकियों पर सेना का शिकंजा, 2 आतंकी ढेर, एक ने किया सरेंडर

आपातकाल में ऐसी गाड़ियों के लोकेशन लेकर हर किस्म की सहायता भेजना आसान हो सकेगा। विशेष रूप से तैयार किए गए कंट्रोल रूम में सेना और सुरक्षा एजेंसियों के जवानों की तैनाती होगी।

बर्फानी बाबा भोलेनाथ के दर्शन को अमरनाथ यात्रा में हर साल शामिल होने वाले जत्थों की सुरक्षा के लिए सेना, पार-मिलीट्री-फोर्स, एनडीआरफ और स्थानीय पुलिस के 40 हजार जवानों को तैनाती सुनिश्चित की गई है।

डेढ़ लाख श्रद्धालुओं ने कराया पंजीयन

अभी तक डेढ़ लाख श्रद्धालुओं ने अमरनाथ यात्रा के लिए पंजीकरण कराया है। पिछले साल लगभग ढाई लाख भक्तों ने प्राकृतिक रूप से बर्फ का शिवलिंग बनने वाले बाबा के दरबार में शिव नवाया था।

Next Story
Top