Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पुलवामा मुठभेड़ : आज फिर पांच जवान शहीद, जैश कमांडर समेत तीन आतंकी ढेर

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा आतंकी हमले की आग अभी ठंडी भी नहीं हुई थी कि आज पुलवामा जिले में एक बार फिर सेना और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई जिसमें पुलवामा आतंकी हमले का मास्टरमाइंड जैश ए मोहम्मद कमांडर अब्दुल रशीद गाज़ी सहित तीन आतंकवादी ढेर हो गए, जबकि सेना के एक मेजर सहित पांच जवान शहीद हो गए। इस मुठभेड़ में एक आम नागरिक की भी मौत हो गई है।

पुलवामा मुठभेड़ : आज फिर पांच जवान शहीद, जैश कमांडर समेत तीन आतंकी ढेर

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा आतंकी हमले की आग अभी ठंडी भी नहीं हुई थी कि आज पुलवामा जिले में एक बार फिर सेना और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई जिसमें पुलवामा आतंकी हमले का मास्टरमाइंड जैश ए मोहम्मद कमांडर अब्दुल रशीद गाज़ी सहित तीन आतंकवादी ढेर हो गए, जबकि सेना के एक मेजर सहित पांच जवान शहीद हो गए। इस मुठभेड़ में एक आम नागरिक की भी मौत हो गई है।

अधिकारियों ने बताया कि मारे गए जैश ए मोहम्मद आतंकवादियों में इस आतंकवादी समूह का एक पाकिस्तानी कमांडर भी शामिल है जिसकी 14 फरवरी को सीआरपीएफ के वाहन को निशाना बनाकर किये गए आतंकवादी हमले में भूमिका की जांच की जा रही है। पुलवामा के पिंगलान क्षेत्र में हुई इस मुठभेड़ में कम से कम छह सुरक्षाकर्मी घायल हो गए जिसमें सेना के एक लेफ्टिनेंट कर्नल और पुलिस उप महानिरीक्षक (डीआईजी) शामिल हैं।

यह मुठभेड़ स्थल उस जगह से करीब 12 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है जहां गत 14 फरवरी को जैश ए मोहम्मद के एक आत्मघाती हमलावर ने विस्फोटक से भरा अपना वाहन सीआरपीएफ की बस से टकरा दिया था जिसमें 40 जवान शहीद हो गए थे और पांच गंभीर रूप से घायल हो गए थे। इस आतंकवादी हमले की जिम्मेदारी जैश-ए-मोहम्मद ने ली है। अधिकारियों ने बताया कि इस मुठभेड़ में सेना के पांच जवान शहीद हो गए।

इसमें जैश ए मोहम्मद के तीन आतंकवादी मारे गए और एक आम नागरिक की भी मौत हो गई। उन्होंने बताया कि मारे गए आतंकवादियों की पहचान पाकिस्तानी नागरिक एवं जैशे मोहम्मद के शीर्ष कमांडर कामरान के रूप में की गई है। दूसरे आतंकवादी की पहचान स्थानीय नागरिक हिलाल अहमद के रूप में की गई है।

उसका संबंध भी जैश-ए-मोहम्मद से था। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि जांचकर्ता सीआरपीएफ के काफिले पर 14 फरवरी को हुए आत्मघाती हमले में कामरान की भूमिका की जांच कर रहे हैं।' इस मुठभेड़ में मेजर वी एस ढोंडियाल, हवलदार एस राम और सिपाही हरि सिंह एवं अजय कुमार शहीद हो गए।

घायलों में डीआईजी (दक्षिण कश्मीर) अमित कुमार शामिल हैं जिन्हें पेट में गोली लगी। इसके साथ ही एक ब्रिगेड कमांडर भी घायल हो गए जिन्हें पैर में चोट आई है। घायल हुए सैन्यकर्मियों के नामों का तत्काल अभी पता नहीं चल पाया है। अधिकारियों ने बताया कि सभी घायलों की स्थिति स्थिर है।

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि सुरक्षा बलों को इलाके में आतंकवादियों की मौजूदगी की सूचना मिली थी। इसके बाद सुरक्षा बलों ने रात में इलाके की घेराबंदी करके तलाशी अभियान शुरू किया। अधिकारियों ने बताया कि तलाशी अभियान के दौरान आतंकवादियों ने सुरक्षा बलों पर गोलीबारी की जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई।

आतंकवादी समूह जैश ए मोहम्मद ने 14 फरवरी को हुए उस आतंकवादी हमले की जिम्मेदारी ली है जिसमें सीआरपीएफ के उन 78 वाहनों के काफिले को निशाना बनाया गया जो जम्मू से श्रीनगर आ रहे थे। सीआरपीएफ के करीब 2500 कर्मी घाटी की ओर लौट रहे थे जिसमें से कई छुट्टी के बाद अपनी ड्यूटी पर लौट रहे थे।

Next Story
Top