Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती पर PSA के तहत लगाए गए आरोप, जानें क्या है पब्लिक सेफ्टी एक्ट

पब्लिक सेफ्टी एक्ट (पीएसए) बिना मुकदमे के किसी भी व्यक्ति को दो साल तक की गिरफ्तारी या नज़रबंदी की इजाजत देता है। यह कानून 1970 के दशक में जम्मू-कश्मीर में लकड़ी की तस्करी को रोकने के लिए लागू किया गया था।

उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती पर PSA तहत आरोप लगाए, जानें क्या है पब्लिक सेफ्टी एक्टउमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती

नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला और पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की नेता महबूबा मुफ्ती पर पब्लिक सेफ्टी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है। बता दें कि आर्टिकल 370 के बाद से ही इन नेताओं को उनके ही घर में नजरबंद करके रखा गया है।

उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती के खिलाफ लगाए गए आरोपों के अनुसार उन्हें बिना किसी मुकदमे और सुनवाई के तीन महीने तक जेल में रखा जा सकता है।

क्या है पब्लिक सेफ्टी एक्ट

पब्लिक सेफ्टी एक्ट (पीएसए) बिना मुकदमे के किसी भी व्यक्ति को दो साल तक की गिरफ्तारी या नज़रबंदी की इजाजत देता है। यह कानून 1970 के दशक में जम्मू-कश्मीर में लकड़ी की तस्करी को रोकने के लिए लागू किया गया था। क्योंकि उस समय ऐसे अपराध में शामिल लोग मामूली हिरासत के बाद आसानी से छूट जाते थे।

Next Story
Top