Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जम्मू-कश्मीरः मिनी बस गहरी खाई में गिरी, 22 लोगों की मौत

जम्मू-कश्मीर में शनिवार को जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर क्षमता से काफी अधिक यात्रियों को ले जा रही एक मिनी बस के गहरी खाई में गिर जाने से 22 लोगों की मौत हो गई और 14 अन्य घायल हो गए। बस के चालक का वाहन पर नियंत्रण नहीं रहने के कारण यह हादसा हुआ।

जम्मू-कश्मीरः मिनी बस गहरी खाई में गिरी, 22 लोगों की मौत

जम्मू-कश्मीर में शनिवार को जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर क्षमता से काफी अधिक यात्रियों को ले जा रही एक मिनी बस के गहरी खाई में गिर जाने से 22 लोगों की मौत हो गई और 14 अन्य घायल हो गए। बस के चालक का वाहन पर नियंत्रण नहीं रहने के कारण यह हादसा हुआ।

अधिकारियों ने बताया कि मृतकों में एक ही परिवार के तीन सदस्य और ड्राइवर भी शामिल है। गंभीर रूप से घायल 10 लोगों को हवाई मार्ग से दुर्घटनास्थल से उधमपुर के सैन्य अस्पताल और दो अन्य को जम्मू ले जाया गया।

डोडा-किश्तवाड़-रामबन क्षेत्र के पुलिस उप-महानिरीक्षक (डीआईजी) रफीक-उल-हसन ने पीटीआई-भाषा को बताया कि सुबह 9:55 बजे जब यह हादसा हुआ। उस वक्त मिनी बस बनिहाल से रामबन जा रही थी। ड्राइवर ने बस से नियंत्रण खो दिया और मारूफ के निकट केला मोड़ पर बस 200 फुट गहरी खाई में जा गिरी।

अधिकारियों ने बताया कि 15 लोगों ने मौके पर ही दम तोड़ दिया जबकि सात अन्य ने अलग-अलग अस्पतालों में अंतिम सांस ली। जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक और विभिन्न राजनीतिक पार्टियों के नेताओं ने दुर्घटना में कई लोगों के मारे जाने पर दुख जताया।

मलिक ने मृतकों के परिजन को पांच-पांच लाख और घायलों को 50-50 हजार रुपए की सहायता राशि देने की घोषणा की। स्थानीय लोगों ने हादसे के तुरंत बाद ही बचाव अभियान शुरू कर दिया और पुलिस एवं सेना की त्वरित प्रतिक्रिया टीमें भी जल्द ही उनकी मदद के लिए आ गईं।

रामबन के उपायुक्त शौकत एजाज और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) अनिता शर्मा बचाव कार्यों की निगरानी के लिए दुर्घटनास्थल पर पहुंचे और गंभीर रूप से घायलों को हवाई मार्ग से अस्पताल ले जाने के लिए जरूरी इंतजाम किए।

थलसेना के ‘चेतक' और ‘चीता' हेलीकॉप्टरों, एक निजी विमान और एक सरकारी हेलीकॉप्टर ने छह बार संक्षिप्त उड़ानें भरी।

डीआईजी ने कहा, ‘‘नाजुक तौर पर घायल हुए लोगों को विशेष इलाज के लिए हवाई मार्ग से उधमपुर के सेना अस्पताल और जम्मू के सरकारी मेडिकल कॉलेज अस्पताल ले जाया गया।' उन्होंने दुर्घटनास्थल पर समय रहते पहुंच कर बचाव का काम करने वाले लोगों की तारीफ की।

नेशनल कांफ्रेंस के उपाध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला, पीडीपी की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती, नेशनल पैंथर्स पार्टी के मुख्य संरक्षक भीम सिंह सहित कई नेताओं ने दुर्घटना पर हैरानी जाहिर की और पीड़ितों के परिजन के लिए पर्याप्त मुआवजे की मांग की।
Next Story
Top