Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अमरनाथ यात्रा के रास्ते में मिली स्नाइपर राइफल, यात्रियों को वापस लौटने की दी गई सलाह

जम्मू कश्मीर में आतंकी घुसपैठ और हमले को लेकर श्रीनगर में चिनार कॉर्प्स कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल के जे एस ढिल्लन और जम्मू-कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह द्वारा संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस की गई।

अमरनाथ यात्रा के रास्ते में मिली स्नाइपर राइफल, यात्रियों को वापस लौटने की दी गई सलाह
X
Jammu Kashmir Joint press conference by Chinar Corps Commander Lt General and J&K DGP Srinagar

जम्मू कश्मीर में आतंकी घुसपैठ और हमले को लेकर श्रीनगर में चिनार कॉर्प्स कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल के जे एस ढिल्लन और जम्मू-कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह द्वारा संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस की गई।

एएनआई के मुताबिक, प्रेस कॉन्फ्रेंस में जम्मू कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह ने कहा कि घाटी और जम्मू में आतंकी घटनाओं में कमी आई है। वहीं सीमा पार से होने वाली घुसपैठ को विफल किया जा रहा है।

दोनों प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि चिनार कॉर्प्स कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल के जे एस ढिल्लन ने कहा कि सीमा पर स्थिति नियंत्रण में है और साथ ही यहां के इलाकों में बहुत शांति है।

आगे कहा कि पाकिस्तान की ओर से घुसपैठ की बोलियों को सफलतापूर्वक विफल किया जा रहा है। आईईडी की हम जांच कर रहे हैं। आईईडी एक्सपर्ट आतंकवादी, जिन्हें हम पकड़ रहे हैं जो बताता हैं कि पाकिस्तान कश्मीर में शांति भंग करने की कोशिश करता रहा है।

आगे संयुक्त वार्ता के दौरान कहा कि हम कश्मीर की आवाम को आश्वस्त करते हैं कि किसी को भी शांति भंग करने की अनुमति नहीं दी जाएगी। फिलहाल घाटी में स्थिति पूरी तरह से नियंत्रित है।

पाकिस्तानी सेना द्वारा समर्थित आतंकवादी अमरनाथ यात्रा को बाधित करने की कोशिश की जा रही है। इस बात की पुष्टी खुफिया रिपोर्टों में की गई है। सेना ने आज कहा, एक तीर्थयात्रा के मार्ग पर एक बारूदी सुरंग और एक स्नाइपर राइफल, आईईडी और एक दूरबीन को मिली है।

चिनार कॉर्प्स कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल केजेएस ढिल्लों ने कहा कि पिछले तीन-चार दिनों में, ऐसी खुफिया रिपोर्टों की पुष्टि हुई कि पाकिस्तान और उसकी सेना द्वारा समर्थित आतंकवादी अमरनाथ यात्रा को बाधित करने की कोशिश कर रहे हैं और इसके आधार पर गहन तलाशी ली गई। इन दौरान हमें बड़ी सफलता मिली है।

एसपी पाणि, आईजीपी कश्मीर एसपी पाणी ने कहा कि इस साल घाटी में विभिन्न स्थानों पर 10 से आतंकी हमलों का प्रयास किया गया। इनमें आईईडी मॉड्यूलों के दौरान कामरान, उस्मान से पहले मुन्ना लाहौरी जैसे कई आतंकवादी गिरफ्तार किए गए थे।

इसी दौरान जम्मू कश्मीर के डीजी दिलबाग सिंह ने जवानों की तैनाती पर कहा कि हम पिछले कुछ महीनों से कई गतिविधियों में थे। हमारे जिन जवानों को तैनात किया गया है, उन्हें थोड़ी देर आराम करने का मौका नहीं मिला। हमें ऐसे इनपुट मिले हैं । जिससे पता चलता है कि घाटी में हिंसा का स्तर उग्रवादियों द्वारा बढ़ने की संभावना है। इसलिए, हमने ग्राउंड पर ग्रिड को मजबूत करने की कोशिश की है।

इसके अलावा, हमें बताया गया है कि सैनिकों को आराम करने के लिए समय मिलना चाहिए। यह टर्नओवर के लिए समय है। लेकिन ग्रिड आवश्यक रूप से बहुत सक्रिय रूप में होगा।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

और पढ़ें
Next Story